Sunday , June 24 2018

नवजात बच्चे को एचआईवी : फर्नांडीज अस्पताल और आरोही ब्लड बैंक को को नोटिस

हैदराबाद। राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग (एनसीडीआरसी) ने फर्नांडीज अस्पताल और आरोही ब्लड बैंक को नोटिस जारी किया है जिसमें एक शिशु को प्लेटलेट आधान के बाद एचआईवी संक्रमित किया गया और बच्चे के परिवार द्वारा 6 करोड़ रूपये का दावा किया गया है।

एनसीडीआरसी में शिशु के पिता द्वारा दायर याचिका में कहा गया कि बच्चे का जन्म एक दोष के साथ हुआ था, जिससे गुदा छिद्र बहुत संकीर्ण था। दो दिन की उम्र में शिशु के दोष के सुधार के लिए सर्जिकल प्रोसेस कोलोसोमी से गुजरना पड़ता था। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि इस प्रक्रिया को परिवार को सही से नहीं बताया गया था जबकि कहा गया था कि केवल कुछ टाँके होंगे।

7 सितंबर-2016 को यह सर्जरी की गई थी और उस समय बच्चे के पिता को बताया गया था कि खून की कमी है और बच्चा गंभीर स्थिति में है और प्लेटलेट आधान की आवश्यकता होगी जिसके लिए एक दानदाता की जरुरत पड़ेगी। याचिका में कहा गया कि आरोही ब्लड बैंक की रक्त प्रक्रिया में गलती हुई थी, ब्लड बैंक से खून का इस्तेमाल किया गया था और दानदाता की व्यवस्था नहीं की गई थी।

बच्चे को 7 मार्च-2017 को पूर्ण विकसित एचआईवी संक्रमण का पता चला था और अस्पताल द्वारा ने आगे की चिकित्सा नहीं की। पीड़ित परिवार एनसीडीआरसी में गया और कथित चिकित्सा लापरवाही के लिए मुआवजे की मांग रखी। फर्नांडीज अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि अभी तक नोटिस प्राप्त नहीं हुआ है और कानून के अनुसार कदम उठाया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT