इस्लाम धर्म के मुताबिक तीन तलाक़ जायज नहीं, लेकिन सरकार धार्मिक मामलों में दखल न दे- कल्बे जव्वाद

इस्लाम धर्म के मुताबिक तीन तलाक़ जायज नहीं, लेकिन सरकार धार्मिक मामलों में दखल न दे- कल्बे जव्वाद
Click for full image

भारत के विश्व प्रसिद्ध शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने तीन तलाक़ के सम्बन्ध में अपने बयां में कहा है कि इस्लामिक कानून में ‘तीन तलाक़’ का प्रावधान नहीं है।

जौनपुर में आयोजित मजलिस में शिरकत के बाद मीडिया से बात चीत में उन्होंने कहा कि इस्लाम में तीन तलाक़ की संकल्पना नहीं है लेकिन हुकूमत को धार्मिक मामलो में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि “तीन तलाक़ से फायदा हासिल कर महिलाओं पर ज़ुल्म व अत्याचार करना किसी भी सूरत हाल में मान्य नहीं है इसका विरोध होना ज़रूरी है। लेकिन धार्मिक मामलो में सरकार का हस्तक्षेप भी सही नहीं। इस्लामिक कानून में तीन तलाक़ को ख़त्म करने की पहल की जनि चाहिए।

मौलाना साहब ने कहा कि “तीन तलाक़ क़ुरान पाक के खिलाफ कृत्य है। फोन, ईमेल और व्हाट्सप्प जैसे माध्यमों से तलाक़ मान्य नहीं होगी।

Top Stories