इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स ने ‘द वायर’ के खिलाफ जय शाह द्वारा मानहानि के केस पर अपनी चिंता व्यक्त की है

इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स ने ‘द वायर’ के खिलाफ जय शाह द्वारा मानहानि के केस पर अपनी चिंता व्यक्त की है
Click for full image

नई दिल्ली: प्रेस विज्ञप्ति स्वतंत्रता को बढ़ावा देने वाले दुनिया भर के पत्रकारों के एक समूह ने इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स (आईएफजे) को द वायर के खिलाफ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय अमितभाई शाह द्वारा दायर आपराधिक मानहानि मामले पर चिंता व्यक्त की है। यह मामला तब दर्ज किया गया था जब द वायर ने ने नरेंद्र मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद जय के स्वामित्व वाली कंपनी के कारोबार में अचानक वृद्धि की जानकारी देने वाली एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी।

उसके बाद अहमदाबाद के मेट्रोपॉलिटन कोर्ट में जय अमितभाई शाह ने ‘द वायर’ की रिपोर्टर रोहिणी सिंह, फ़ाउंडर एडिटर सिद्धार्थ वरदराजन, सिद्धार्थ भाटिया, एमके वेणु, मोनोबिना गुप्ता, पामेला फिलिपोज़  के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज किया था इस रिपोर्ट में अमित शाह के बाटे जय अमितभाई शाह के पिछले कुछ सालों व्यवसायों में नाटकीय वृद्धि को उजागर किया गया था

 

उसके बाद शाह द्वारा जारी एक बयान में कहा गया : “चूंकि इस वेबसाइट ने एक बेहद झूठी अनुच्छेद कहानी गाढ़ी है जिससे मेरी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा है, जिसके चलते मैं ने लेखक, संपादक, और उपरोक्त के मालिक पर मुकदमा चलाने का फैसला किया है, वेबसाइट के संपादक और रिपोर्टर के ख़िलाफ़ 100 करोड़ का मानहानि का आपराधिक मुक़दमा दर्ज किया गया था.

इसको लेकर आईएफजे ने अपनी चिंता जताते हुए कहा: “आईएफजे सार्वजनिक हित के मामलों की जांच और महत्वपूर्ण कहानियों के प्रकाशन के लिए उन्हें रोकने के लिए पत्रकारों और मीडिया को परेशान करने के लिए आपराधिक मानहानि के दुरुपयोग से चिंतित है। जबकि आईएफजे  आश्वस्त है कि अदालत न्याय सुनिश्चित करेगी, महत्वपूर्ण खबरों के लिए आपराधिक मानहानि मामलों को दाखिल करने की प्रवृत्ति चिंता का मामला है क्योंकि यह मीडिया और पत्रकारों पर वित्तीय और मानसिक बोझ डालती है। ”

 

Top Stories