Saturday , July 21 2018

योगी की एंटी रोमियो स्क्वॉड मुहिम को इंटरनेशनल मीडिया ने बताया तालिबानी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की एंटी रोमियो स्क्वॉड मुहीम की अब देश के साथ-साथ इंटरनेशनल मीडिया ने भी आलोचना करना शुरू कर दिया है। कुछ अखबारों ने इसे मोरल पुलिसिंग करार दिया है तो कुछ ने इस पुलिस सिस्टम की तुलना तालिबानी शासन से की है।

ब्रिटिश अखबार द टेलिग्राफ के मुताबिक योगी आदित्यनाथ ने सीएम बनते ही बिगड़ैल किस्म के लोगों को काबू में करने के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉड का गठन कर दिया है, और इसे दूसरे राज्यों में भी लागू किया जा रहा है। अखबार लिखता है कि इस दल को कई लोगों ने तालिबान जैसा मोरल पुलिसिंग करने वाला करार दिया है।

अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट के मुताबिक योगी आदित्यनाथ ने सत्ता संभालते ही दो फैसलों से अपने आने का सबूत दे दिया है। सीएम ने सबसे अवैध कत्लखाने बंद करा दिये और मनचलों पर कार्रवाई के लिए एंटी रोमियो दल का गठन कर दिया। अखबार के मुताबिक कई लोग इसे मोरल पुलिसिंग करार दे रहे हैं।

ब्रिटेन के दूसरे अखबार द डेली एक्सप्रेस के मुताबिक, एंटी रोमियो स्क्वॉड ने उन परिवारों में खलबली मचा दी है, जिनके बच्चे एंटी रोमियो  स्क्वॉड द्वारा पकड़े जाते हैं। इन परिवारों मानना है कि सरकार उनके बच्चों को निशाना बना रही है।

चर्चित अखबार द गार्जियन ने अपने कॉलम में लिखा है, ‘यूपी के शहरों की गलियों में पिछले हफ्ते पुलिस की कई टुकड़ियां उतर आईं हैं और उन लोगों को निशाना बनाती है जो छेड़खानी करते हैं।

अखबार के मुताबिक गोहत्या पर प्रतिबंध और शहर में मनचलों की हरकतों पर रोक लगाना बीजेपी के चुनाव एजेंडे में शामिल था। अखबार लिखता है कि भारत के कुछ शहरों में छेड़खानी की घटनाएं आम हैं, लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि एंटी रोमियो दल सिर्फ धर्म विशेष के लोगों को निशाना बना रही है।

TOPPOPULARRECENT