बुलंदशहर में मारे गए पुलिस इंस्पेक्टर अख़लाक मॉब लिंचिंग मामले में जांच अधिकारी थे!

बुलंदशहर में मारे गए पुलिस इंस्पेक्टर अख़लाक मॉब लिंचिंग मामले में जांच अधिकारी थे!
फोटो- पत्रिका

यूपी के बुलंदशहर में गोवंश के अवशेष मिलने पर सोमवार को बवाल हो गया। इस दौरान लोगों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया। वहीं बवाल के दौरान एक इंस्पेक्टर की मौत हो गई व कई सिपाही घायल हुए हैं।

हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर की मौत से पुलिस महकमे में शोक की लहर दौड़ गई। जान गंवाने वाले इंस्पेक्टर एक दिलेर और खुशमिजाज शख्स थे।

इंस्पेक्टर सुबोध कुमार राठौर मूल रूप से एटा के रहने वाले थे और मेरठ के पल्लवपुरम में भी उनका एक मकान है। बताया जा रहा है तीन साल पहले ही वह परिवार सहित गाजियाबाद शिफ्ट हुए थे।

ज़ी  मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक सुबोध कुमार सिंह दादरी में मोहम्मद अख्लाक लिंचिंग मामले में जांच अधिकारी  भी थे और समय पर सबूत जुटाने में महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई थी । सुबोध कुमार सिंह को जांच के बीच में ही वाराणसी स्थानांतरित कर दिया गया था।

सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार के व्यापक आरोप  भी लगे थे, वहीँ यूपी पुलिस ने कहा था की सिंह का स्थानांतरण एक नियमित रूटीन के तहत हुआ । बता दें की दादरी के बिसाहडा गांव में 28 सितंबर, 2017 को अखलाक की अफवाहों के बाद पीट पीट कर हत्या कर दी गई थी। 

बुलंदशहर के स्याना कोतवाली क्षेत्र में गोवंश के अवशेष मिलने पर कई हिंदू संगठन के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। लोगों ने बुलंदशहर स्याना रोड जामकर पुलिस पर पथराव भी किया। इस दौरान पुलिस इंस्पेक्टर की मौत भी हो गई है। इंस्पेक्टर के हमराह सिपाही को भी गोली लगी है।

 


<div class=”SandboxRoot env-bp-350″ data-twitter-event-id=”2″>
<div id=”twitter-widget-3″ class=”EmbeddedTweet js-clickToOpenTarget tweet-InformationCircle-widgetParent” lang=”en” data-click-to-open-target=”https://twitter.com/ANINewsUP/status/1069560839160643584″ data-iframe-title=”Twitter Tweet” data-scribe=”page:tweet” data-twitter-event-id=”6″>
<div class=”EmbeddedTweet-tweetContainer”>
<div class=”Tweet-header”></div>
</div>
</div>
</div>

Top Stories