Saturday , July 21 2018

अमीरों के देश छोड़ने की जांच करेगी केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड की कमेटी

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) द्वारा कमेटी बनाई गई है जो अमीर लोगों के देश को छोड़ने के मामले पर जांच करेगी। अमीर लोगों के भारत छोड़कर जाने के मामले में समिति टैक्स संबंधी कई पहलुओं पर ध्यान देगी और वह इस तरह के माइग्रेशन को देखते हुए पॉलिसी बनाने की खातिर सुझाव भी दे सकती है।

समिति नीरव मोदी, उनके मामा और गीतांजलि जेम्स के प्रमोटर मेहुल चौकसी के देश से भागने संबंधी बातों का भी ध्यान रखेगी। इससे पहले किंगफिशर एयरलाइन के दिवालिया होने के बाद बैंकों का पैसा लौटाने से बचने के लिए शराब कारोबारी विजय माल्या देश से भाग गए थे। हाल के वर्षों में देश छोड़कर जाने वाले करोड़पति लोगों की संख्या तेजी से बढ़ी है। 2017 में ही करीब 7,000 ऐसे लोगों ने देश छोड़ा।

मॉर्गन स्टेनली इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट के चीफ ग्लोबल स्ट्रैटेजिस्ट और इमर्जिंग मार्केट्स के हेड रुचिर शर्मा की टीम ने ये आंकड़े जुटाए थे। डेटा से पता चलता है कि भारत के 2.1 पर्सेंट अमीरों ने देश छोड़ा है, जबकि फ्रांस के मामले में इनकी संख्या 1.3 पर्सेंट और चीन के मामले में 1.1 पर्सेंट है।

TOPPOPULARRECENT