Sunday , December 17 2017

IS ने बनायी नई दहशतगर्द तंज़ीम हिंदुस्तान के लिए खतरा: सेक्युरिटी एजेंसिया

नई दिल्ली: हिंदुस्तान के पीएम दफ्तर को खुफिया एजेंसियों ने एक नई दहशतगर्द तंज़ीम के बारे में अलर्ट किया है। यह तंज़ीम इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने तैयार किया है और इसका ताल्लुकात पाकिस्तानी गुटों से बताया जा रहा है।

नई दिल्ली: हिंदुस्तान के पीएम दफ्तर को खुफिया एजेंसियों ने एक नई दहशतगर्द तंज़ीम के बारे में अलर्ट किया है। यह तंज़ीम इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने तैयार किया है और इसका ताल्लुकात पाकिस्तानी गुटों से बताया जा रहा है।

खुफिया एजेंसियों का कहना है कि अफगानिस्तान-पाकिस्तान इलाके में उभर कर आए इस आईएस से जुड़ी दहशतगर्द तंज़ीम का नाम विलायत खुरसन (WK) है। इस वक्त आईएस की अफगानिस्तान-पाकिस्तान इलाके में सरगर्मिया बढ़ी हैं और इसके बारे में बहुत सारी मालूमात निकल कर सामने आ रहीं हैं, लेकिन इन इत्तेलात की तस्दीक की जरूरत है। हालांकि इस नई तंज़ीम का पाकिस्तानी गुटों से राबिता हिंदुस्तान के लिए फिक्र का मौजू है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक विलायत खुरसन का मज़हबी लीडर अब्दुल रहीम मुस्लिम दोस्त है जिसके लश्कर-ए-तैयबा के आकाओं से ताल्लुकात हैं। इसके ताल्लुकात एक साबिक फौजी आफीसर असमातुल्ला मौविया से भी हैं जो अल-कायदा से जुड़ा हुआ है।

इस नई तंज़ीम का ऐलान आईएस के तरजुमान अबु मुहम्मद अल-अदनानी ने इसी साल जनवरी में कर दी थी। हालांकि अफगानिस्तान और पाकिस्तान दोनों ही आईएस से जुड़े इस तंज़ीम की मौजूदगी से इंकार करते रहे हैं, लेकिन इसका आफिशियली तौर पर ऐलान ने सारे दावों की पोल खोल दी है। एक सेक्युरिटी आफीसर के मुताबिक पाकिस्तान में आईएस के कदम पड़ना और मिलकर काम करना हिंदुस्तान के लिए खतरनाक है और इनकी सरगर्मियों पर नजर रखी जानी चाहिए।

18 अप्रेल को अफगानिस्तान के जलालाबाद में हुए सीरीयल बम ब्लास्ट की जिम्मेदारी भी डब्ल्यूके तंज़ीम ने ली है। इन धमाकों में कई शहरी और सेक्युरिकी अहलकार मारे गए थे।

TOPPOPULARRECENT