Wednesday , December 13 2017

ISIS के डर से सीरिया में 30 हजार लोग कैम्प छोड़कर भागे

दुबई। सीरिया में सिविल वॉर की वजह से कैंप में रहने को मजबूर लोग अब यहां भी महफुज नहीं हैं और इसका वजह है आईएसआईएस के दहशतगर्द। इन दहशतगर्दों के कैंप पर भी हमला करने की  वजह से कम से कम 30 हजार लोग कैंप को छोड़ करके महफुज ठिकानों की तलाश में मुल्क के उत्तरी इलाके में चले गए हैं।
ह्यूमन राइट्स वॉच की एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया गया है। संगठन ने आईएस और विद्रोहियों के दरमियान संघर्ष की वजह से मुल्क छोड़कर जाने वाले लोगों के लिए तुर्की से अपनी सरहद खोलने की दरख्वास्त किया है। उन्होंने तुर्की की सरहद के पास कुछ शरणार्थियों को गोली मारने का इल्जाम लगाया और इसके लिए तुर्की बार्डर गार्ड्स की तनकीद भी की।
रेस्क्यू मेंबर्स ने मानवाधिकार संगठन को बताया कि एजाज शहर के नजदीक बने तीन कैंपों इकदाह, हरमीन और अल शाम पर आईएस के दहशतगर्दों ने हमला किया, जिसके बाद तीनों कैंप पर पूरी तरह से खाली पड़े हैं। इकदाह कैंप के चीफ ने तुर्की की सरहद के नजदीक बताया कि आईएस ने जुमेरात को कैंप पर कब्जा कर लिया और लोगों को कैंप खाली करने की धमकी दी।

TOPPOPULARRECENT