इस्लाम का पहला पैगाम शिक्षा है, मुसलमानों की पिछड़ने का कारण शिक्षा से दूरी है

इस्लाम का पहला पैगाम शिक्षा है, मुसलमानों की पिछड़ने का कारण शिक्षा से दूरी है

कालीकट: मरकज़ अस सकाफता अल सुन्निय इस्लामिया के वाईस चांसलर शेख़ अबू बकर अहमद ने मुसलमानों की विकास और कलयाण के लिए शिक्षा को जरूरी क़रार देते हुए कहा कि मुसलमानों के जिंदगी के सभी क्षेत्रों में पिछड़ने की एकमात्र वजह शिक्षा से दूरी है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

यह बात उन्होंने कल चार दिवसीय विश्व रब्बी जबली विश्व सम्मेलन में मुख्य भाषण देते हुए कही। उन्होंने कहा कि मुसलमानों को जहां दीनी शिक्षा पर ध्यान देने की जरूरत है वहीं आधुनिक शिक्षा को दीनी शिक्षा की तरह गंभीरता से अपनाने की ज़रूरत है।

संयुक्त अरब अमीरात के सलाहकार अली अलहाश्मी ने भी शिक्षा की अहमियत की ओर इशारा करते हुए कहा कि कुरान की पहली आयत इकरा है। इसका मतलब यह हुआ कि इस्लाम में शिक्षा की ही अहमियत है और इस्लाम का पहला पैगाम शिक्षा है।

Top Stories