Monday , September 24 2018

ईरान में पैदा हुए लेखक रेजा असलान ने कहा : इज़राइल में पुलिस ज्यादती करती है

उदारवादी ज़ीयोनिस्ट लेखक पीटर बेनार्ट ने खुलासा किया कि उन्हें 12 अगस्त को बेन गुरियन हवाई अड्डे पर उनकी राजनीतिक राय/गतिविधियों पर पूछताछ के लिए एक घंटे तक हिरासत में लिया गया था।

इज़राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने तुरंत एक अभूतपूर्व बयान जारी करते हुए कहा कि हिरासत में लेना गलती हुई है और बेनार्ट ने कहा कि वह नेतन्याहू की माफी स्वीकार करेंगे, अगर वह फिलिस्तीनियों से माफ़ी मांगे, जो बहुत बदतर हैं।

कई ज़्योनिस्टों ने ऐसी खबरों के लिए गुस्से में जवाब दिया है कि देश की यात्रा करने वाले यहूदियों को परेशान करके खुद को नुकसान पहुंचा रहा है। इजरायली वकील जनरल का कहना है कि वह हिरासत की घटनाओं की तलाश में है।

ईरान में पैदा हुए लेखक रेसा असलान ने बेनार्ट के अनुभव से ट्विटर पर अपनी कहानी बताई है। उन्होंने कहा कि पीटर के अनुभव ने मुझे मेरा यह सब साझा करने के लिए प्रेरित किया है।

2 हफ्ते पहले, जब मैं जॉर्डन से इज़राइल में वापस जा रहा था तो मुझे मेरे परिवार से अलग कर दिया गया और शिन बेट द्वारा हिरासत में लिया गया और मुझे चेतावनी दी गई थी।

मुझसे पूछा कि तुम इज़राइल से नफरत क्यों करते हो तो मैंने कहा, इज़राइल से नफरत नहीं करता। लेकिन आप हमारे प्रधानमंत्री से नफरत करते हैं। मुझे खेद है कि आपके प्रधानमंत्री इज़राइली है? वह लोकतांत्रिक ढंग से चुने गए हैं।

मैंने सबसे अच्छा सहयोग करने की कोशिश की लेकिन परिवार को घंटों तक इंतज़ार करना पड़ा था। मैंने जो भी जवाब दिया वह मुझे झूठ बोलने के लिए कह रहे थे। जैसे ईरान में आपके पिता ने किसके लिए काम किया तो मैंने कहा, मुझे नहीं पता। मैं 7 वर्ष का था जब हमने छोड़ा।

ओह विद्वान! आप मुझे तुर्क साम्राज्य के बारे में सब कुछ बता सकते हैं लेकिन आप अपने पिता के इतिहास को नहीं जानते? रिकॉर्ड के लिए मैं एक तुर्क विद्वान नहीं हूं। अंत में, इसके कुछ घंटों बाद उसने चेतावनी दी कि मैं आपको इज़राइल में जाने दे सकता हूं। मैं आपको यहाँ रखूंगा और परिवार को निकाल दूंगा। यह आप पर निर्भर करता है।

उनकी अंतिम चेतावनी फिलीस्तीनी प्रदेश का दौरा नहीं करना था। हम आपको देख रहे हैं। दो दिन बाद मैं बेथलहम गया और यह तस्वीर ली। उसके दो दिन बाद, इतालवी कलाकार जिन्होंने अहद तमीमी के इस चित्र को चित्रित किया था, उसे गिरफ्तार कर लिया गया था।

दस साल में इज़राइल के लिए मेरी चौथी यात्रा थी और हर बार से बदतर थी। यह लोकतंत्र का रूप नहीं है। यह पूर्ण रूप से पुलिस का राज्य बन गया है, जो ज्यादती करती है। जब मुझे रिहा किया गया तो मेरे ससुराल वाले सदमे में थे।

(courtesy : mondoweiss)

https://mondoweiss.net/2018/08/israel-becoming-interrogation/

TOPPOPULARRECENT