Sunday , July 22 2018

कश्मीर : फोटो पत्रकार कामरान यूसुफ को जमानत मिली

नयी दिल्ली। कश्मीर के फोटो पत्रकार कामरान यूसुफ को स्थानीय एक विशेष अदालत ने जमानत दे दी। नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने उन्हें घाटी में पथराव को बढ़ावा देने और सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ समर्थन जुटाने में कथित तौर पर संलिप्त रहने के आरोपों में सितम्बर में गिरफ्तार किया था। एनआईए अधिकारियों ने पुष्टि की कि यूसुफ को जमानत दे दी गई है।

गिरफ्तारी के बाद से ही उसकी रिहाई के लिए मांग तेज़ हो गई थी। कश्‍मीर के चर्चित अख़बार ग्रेटर कश्‍मीर के लिए काम करने वाले 23 वर्षीय कामरान को पुलवामा पुलिस ने 4 सितंबर को पूछताछ के लिए बुलवाया था, जिसके बाद नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी ने उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया और अगले दिन उन्‍हें कथित रूप से दिल्‍ली भेज दिया था।

एनआईए ने अपने आरोपपत्र में ‘एक पत्रकार के नैतिक दायित्वों’ को सूचीबद्ध किया था ताकि उसके दावे के मुताबिक इसे अनुचित व्यवहार करार दिया जा सके। एनआईए ने इस वर्ष19 जनवरी को उनके और नौ अन्य के खिलाफ दायर आरोपपत्र में कहा था, ‘अगर वह पेशे से वास्तव में पत्रकार होते तो वह एक पत्रकार का नैतिक कर्तव्य निभाते जिसका काम अपने क्षेत्र में गतिविधियों( अच्छे या बुरे) को कवर करना है।

उन्होंने कभी भी विकास कार्यों, किसी अस्पताल, स्कूल भवन, सड़क, पुल के उद्घाटन को कवर नहीं किया या राजनीतिक दलों के बयान या भारत सरकार के बयान को कवर नहीं किया। जम्मू- कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बीते कल केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मामले में गौर करने के लिए कहा था।

TOPPOPULARRECENT