Sunday , December 17 2017

भीड़तंत्र के ख़िलाफ़ जंतर-मंतर पर ज़ोरदार प्रदर्शन, पहलू और जुनैद का परिवार भी हुआ शामिल

नई दिल्ली: मॉब लिंचिंग और हाल ही में जुनैद की हत्या को लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर में विरोध प्रदर्शन हुआ. इसमें मेवाती समाज के अलावा कई संगठनों के लोगों ने हिस्सा लिया. अपनी सुरक्षा और सामाजिक सौहा‌र्द्र की मांग लेकर समुदाय के लोग 2 जुलाई से दिल्ली के जंतर-मंतर पर तीन दिन के धरना पर बैठेंगे

जंतर मंतर पर आदमखोर होती भीड़ के खिलाफ आवाज़ें उठीं. इसमें बड़ी संख्या में मेवाती समाज के लोग जुटे. उन्होंने गाय के नाम पर हो रही हिंसा और भीड़ द्वारा की जा रही हत्याओं के खिलाफ आवाज उठाई.

इस प्रदर्शन में हाल में भीड़ द्वारा मारे गए जुनैद के परिवार के अलावा पहलू खान और नजीब अहमद के परिवारों ने भी हिस्सा लिया. गाय के नाम पर हो रही हिंसा को लेकर प्रधानमंत्री के बयान पर लोगों ने कहा कि यह बयान महज दिखावा है.

पहले मुसमानों ने ईद की नमाज़ काली पट्टी बांधकर पढ़ी. उसके बाद #NotInMyName के तहत दिल्ली और देश के अन्य हिस्सों में प्रदर्शन हुए और अब मेवात समाज ने ये प्रदर्शन किया है.

एक सर्वे के मुताबिक पिछले एक साल में गाय को लेकर हिंसा के 63 मामले हुए जिनमें 28 लोग मारे गए. मरने वालों में 24 मुस्लिम थे. शायद यही वजह है कि इन घटनाओं के खिलाफ लोग सड़कों पर हैं.

TOPPOPULARRECENT