JDU पर अधिकार नहीं मिलना एक तरह की लड़ाई है, हम इसका सामना करने के लिए तैयार हैं- शरद यादव

JDU पर अधिकार नहीं मिलना एक तरह की लड़ाई है, हम इसका सामना करने के लिए तैयार हैं- शरद यादव

नई दिल्‍ली। चुनाव आयोग की ओर से पार्टी का प्रतीक चिन्‍ह न दिए जाने के बाद जद यू के वरिष्‍ठ नेता शरद यादव ने कहा कि यह एक संघर्ष और जंग है जिसे मैं जीतूंगा। एएनआई से बात करते हुए बागी जदयू नेता ने कहा कि बुधवार को वे प्रेस कांफ्रेंस में यह मामला उठायेंगे।

उन्‍होंने आगे बताया, ‘यह एक तरह का संघर्ष और लड़ाई है। हम इसका सामना करने के लिए तैयार हैं। मैं आज नहीं बोल रहा क्‍योंकि अभी हर किसी को केवल सुन रहा हूं। मैं बुधवार को दोपहर 12 बजे प्रेस कांफ्रेंस आयोजित करुंगा और अपनी भविष्‍य की योजनाएं रखूंगा।‘

चुनाव आयोग ने मंगलवार को सबूतों के अभाव में शरद यादव के उस दावे को खारिज कर दिया है जिसमें जद यू का पार्टी सिंबल उन्हें देने के लिए आवेदन दिया गया था।

शरद यादव द्वारा दायर की गयी याचिका के विरोध में बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता वाली पार्टी जदयू भी चुनाव आयोग के पास अपनी याचिका लेकर पहुंची। जदयू ने यह भी कहा है कि शरद यादव ने अपनी मर्जी से पार्टी का साथ छोड़ा है व पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्‍त हैं।

Top Stories