Tuesday , December 12 2017

यरूशलेम मामला: फिलिस्तीन बना जंग का मैदान, यहूदियों की नींदें हराम

यरूशलेम को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की ओर से इज़राइली राजधानी ऐलान करने पर फिलिस्तीन में एक नया आंदोलन शुरू हो गया है, फिलिस्तीन जैसे जंग का मैदान बन गया है। कल गुरुवार को कई स्थानों पर इजराईल की सेना और फिलीस्तीनियों के बीच झड़प हो गई। इस हिंसक विरोध प्रदर्शन में कम से कम 162 फिलीस्तीनी घायल हो गए हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये</blockquote

केन्द्रीय फिलिस्तीनी सूचना केंद्र के अनुसार गुरुवार को फिलीस्तीन में इंतिफ़ादा 'आज़ादी बैतूल मुकद्दस' के पहले दिन देश के सभी छोटे-बड़े शहरों में अमरीका और इसराइल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया।

अधिकृत बैतूल मुक़द्दस और गज़ा पट्टी के अलावा पश्चिम जॉर्डन में भी विरोध प्रदर्शन हुआ। प्रदर्शनकारियों में बहुत गुस्सा और आग देखा गया। उन्होंने इजरायली बलों पर पत्थरबाज़ी की जबकि काबिज सेना ने फिलीस्तीनी प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पारंपरिक तरीके अपनाते हुए उन पर जहरीला आंसू गैस और रबर की गोलियां चलाईं, जबकि सीधे फायरिंग भी की गई।

पश्चिमी जोर्डन के शहरों पूर्वी बैतूल मुक़द्दस और रमलला में इजरायली सेना और फिलिस्तीनियों के बीच टकराव हुआ। देर रात तक संघर्ष जारी है।

TOPPOPULARRECENT