मॉब लिंचिंग: मुबारक अंसारी की पीट-पीटकर हत्या!

मॉब लिंचिंग: मुबारक अंसारी की पीट-पीटकर हत्या!

झारखंड में एक बार फिर मॉब लिंचिंग की घटना सामने आई है। चोरी के इल्ज़ाम में दो लोगों की जमकर पीटा है।

प्रभात खबर पर छपी खबर के अनुसार, बोकारो थर्मल थाना अंतर्गत गोविंदपुर बस्ती में मंगलवार की रात को आक्रोशित भीड़ ने बैट्री चोरी के आरोपी 45 वर्षीय मुबारक अंसारी को पीट-पीट कर मार डाला। जानकारी के अनुसार मृतक बोकारो थर्मल थाना अंतर्गत नयी बस्ती का रहनेवाला था।

इस मामले में पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है। थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर उमेश कुमार ठाकुर हिरासत में लिये गये एक ही परिवार के इन पांच लोगों से पूछताछ कर रहे हैं।

डीएसपी अंजनि अंजन ने घटना का ब्यौरा देते हुए मीडिया को बताया कि प्रथम दृष्टया यह मामला भीड़ द्वारा पीटकर हत्या का लगता है, अभी मामले की जांच चल रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गोविंदपुर ई पंचायत अंतर्गत सीसीएल गोविंदपुर अस्पताल के सामने गोविंदपुर बस्ती निवासी प्रेमचंद महतो उनके पुत्र कुंदन महतो एवं नंदन महतो वाहनों को धोने के लिए सर्विसिंग सेंटर चलाते हैं।

एक सप्ताह पूर्व ही सर्विसिंग सेंटर में चोरी हुई थी और पानी के टूल्लू पंप सहित अन्य पाइप की चोरी हुई थी।

मंगलवार की रात को लगभग दो बजे प्रेमचंद महतो की पत्नी नैना देवी लघुशंका के लिए सर्विसिंग सेंटर स्थित अपने घर से बाहर निकली, तो देखा कि दो व्यक्ति वाहन की बैट्री चुराकर लेकर जा रहे हैं।

नैना देवी द्वारा शोर मचाये जाने पर घर के सभी सदस्य प्रेमचंद महतो, कुंदन महतो एवं नंदन महतो ने दौड़ाकर बैट्री लेकर जा रहे दोनों चोर को धर दबोचा तथा सर्विसिंग सेंटर के बाहर पड़े हुए एक बिजली के पोल से उसे बांध दिया।

इसके बाद उनलोगों ने घटना की जानकारी गोविंदपुर बस्ती में रहने वाले अन्य लोगों को दी। सूचना पाकर गोविंदपुर बस्ती से रात्रि में काफी संख्या में लोग सर्विसिंग सेंटर में जमा हो गये।

भीड़ के द्वारा पूछे जाने पर 45 वर्षीय व्यक्ति ने अपना नाम मुबारक अंसारी पिता स्व हुसैनी अंसारी तथा दूसरे ने अख्तर अंसारी, पिता कुरबान अंसारी उम्र 26 वर्ष तथा निवास स्थान नयी बस्ती बताया। भीड़ ने लात-घूंसों एवं चप्पल एवं डंडे से दोनों की खूब पिटाई की।

सुबह लगभग साढ़े पांच बजे मार्निंग वाक पर निकले लोगों में से किसी ने घटना को देखकर स्थानीय पुलिस को इसकी सूचना दी।

सूचना पाकर पुलिस मुबारक अंसारी एवं अख्तर अंसारी को लेकर इलाज के लिए डीवीसी के अस्पताल पहुंचाई। अस्पताल लाने के क्रम में ही मुबारक अंसारी की मौत हो गयी, जबकि गंभीर रूप से घायल अख्तर अंसारी का इलाज चल रहा है।

अस्पताल में भरती अख्तर अंसारी ने पुलिस को उक्त घटना की पूरी जानकारी दी और बताया कि वह एवं मुबारक अंसारी बैट्री चोरी कर लेकर जा रहे थे, उसी दौरान पकड़े गये और भीड़ ने उनके साथ मारपीट की. इस मारपीट के कारण ही मुबारक अंसारी की मौत हो गयी।

Top Stories