गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी को रोका, कहा ऊपर से आदेश है

गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी को रोका, कहा ऊपर से आदेश है

राजस्थान पुलिस ने दलित नेता और गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवाणी को जयपुर एयरपोर्ट पर हिरासत में ले लिया। वह राजस्थान के नागौर में एक मीटिंग करने जा रहे थे।पुलिस का कहना है कि जहां मेवाणी मीटिंग के लिए जा रहे थे वहां धारा 144 लगी हुई है।

इसके साथ पुलिस ने उन्हें जयपुर घूमने से भी रोक दिया गया। इस पर जिग्नेश ने ट्वीट कर कहा ‘अब डीसीपी कह रहे हैं कि आप जयपुर भी नहीं जा सकते और वह मुझे वापस अहमदाबाद जाने के लिए जोर लगा रहे हैं। यहां तक कि मुझे प्रेस कॉन्फ्रेंस करने की भी इजाजत नहीं दी गई।

जिग्नेश ने सवाल किया कि मैं संविधान के मूल्यों पर बात करूं तो माहौल बिगड़ता है, लेकिन मनु स्मृति को मानने वाले लोग दशकों से खुले आम त्रिशूल और तलवार दिखाते आ रहे हैं, लेकिन उससे माहौल नहीं बिगड़ता। फिर भी मैंने उस आदेश को मान लिया और नागौर नहीं जाने का फ़ैसला किया। आदेश लेकर पहुंची पुलिस ने भी कहा की नागौर छोड़कर आप कहीं भी जा सकते हैं लेकिन जैसे ही गाड़ी बाहर निकली तो डीसीपी आए और उन्होंने हमारी गाड़ी रोक ली। उनके साथ 15-20 पुलिसकर्मी थे। जिग्नेश ने कहा, “मैंने कहा कि मैं जनता का एक चुना हुआ प्रतिनिधि हूं, आप मुझे ऐसे नहीं रोक सकते हैं। जब मैंने ऑर्डर मांगा तो उन्होंने कहा कि ऊपर से ऑर्डर आया है ।

इसके बाद उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा ‘पिछले 2 घंटे से मैं जयपुर के डीसीपी से पूछ रहा हूं कि आपके पास मुझे रोकने का कोई ऑर्डर है तो उनके पास कोई जवाब नहीं है। वह कह रहे हैं ऊपर से बोला गया है। उन्होंने मेरा मोबाइल फोन भी ले लिया है।

इस दौरान जिग्नेश मेवाणी ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर भी निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट किया ‘अगर भागवत मनुस्मृति के बारे में चर्चा करने नागौर जाते हैं, तो राजे उन्हें अनुमति दे देती है, वहीं मैं बाबा साहेब अंबेडकर के सिद्धांतों पर चर्चा करने जाना चाहता हूं तो मुझे रोका जा रहा है। वसुंधरा जी हमारा भी वादा रहा चुनाव में मजा आएगा।

Top Stories