Tuesday , September 25 2018

JNU छात्रसंघ चुनाव: बवाल के बाद काउंटिंग शुरू, छात्रों में मारपीट

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ चुनाव के लिए शुक्रवार को वोटिंग के बाद मतगणना पर जमकर बवाल हुआ. जिसके बाद कई घंटों तक रुकी रही. आखिरकार शनिवार देर रात फिर से काउंटिंग शुरू की गई.

बता दें कि जेएनयू छात्रसंघ चुनाव के लिए डाले गए वोटों की गिनती शुरू होने के कुछ देर बाद कुछ छात्र नेताओं ने हंगामा कर दिया था. हंगामे के बाद वोटों की गिनती को रोक दिया गया था.

ABVP और लेफ्ट समर्थक छात्र के साथ इलेक्शन कमीशन की अनबन लगभग 20 घंटे तक चली. शनिवार को भी पूरा दिन कई बार लेफ्ट और राइट विंग छात्र संगठन आपस में भिड़ते नजर आए.

चुनाव समिति का आरोप था कि एक अध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद के प्रत्याशी ने चुनाव समिति की महिला सदस्यों के साथ मारपीट की. वाम संगठनों ने आरोप लगाया कि देर रात एबीवीपी के उम्मीदवारों और कार्यकर्ताओं ने उत्पात मचाया. देर रात सभी काउंसलर पदों में हार की सूचना से बौखलाए एबीवीपी समर्थकों ने मारपीट और तोडफोड़ की.

ये हैं उम्मीदवार? आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा), स्टूडेंट्स फेडरेशन आफ इंडिया (एसएफआई), डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन (डीएसएफ) और आल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) ने साथ मिलकर संयुक्त वाम गठबंधन बनाया है. गठबंधन ने स्कूल आफ इंटरनेशनल स्टडीज के एन. एस. बालाजी को अध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है.

डीएसएफ की सारिका चौधरी उपाध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ रही हैं, एसएफआई के एजाज अहमद राथेर महासचिव पद के लिए और एएसआईएफ के ए जयदीप संयुक्त सचिव पद के लिए चुनाव लड़ रहे हैं. एनएसयूआई ने विकास यादव को अध्यक्ष पद के लिए और एल के बाबू को उपाध्यक्ष पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है. मोहम्मद मोफिजुल आलम सचिव पद पर जबकि एन रीना संयुक्त सचिव पद के लिए चुनाव मैदान में हैं.

एबीवीपी ने ललित पांडेय को अध्यक्ष पद के लिए, गीताश्री बरूआ को उपाध्यक्ष पद के लिए, गणेश गुर्जर को महासचिव और वी चौबे को संयुक्त सचिव पद के लिए उम्मीदवार बनाया है. वहीं इस बार बिहार के पू्र्व सीएम लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल(राजद) भी मैदान में है. छात्र राजद ने अध्यक्ष पद के लिए जयंत कुमार को अपना उम्मीदवार बनाया है.

TOPPOPULARRECENT