Monday , November 20 2017
Home / Khaas Khabar / JNU प्रोफेसर निवेदिता मेनन के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने के लिए पुलिस से शिकायत

JNU प्रोफेसर निवेदिता मेनन के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने के लिए पुलिस से शिकायत

प्रोफेसर निवेदिता मेनन

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) की प्रोफेसर निवेदिता मेनन के खिलाफ राजस्थान के जय नारायण व्यास यूनिवर्सिटी ने देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने के लिए पुलिस से शिकायत की है। प्रोफेसर मेनन पर आरोप है कि उन्होंने एक सेमिनार में अपने भाषण के दौरान देश विरोधी बयान दिए।

दरअसल, निवेदिता मेनन जेएनयू में राजनीति विज्ञान की प्रोफेसर हैं और शुक्रवार को जय नारायण व्यास यूनिवर्सिटी के अंग्रेजी विभाग के एक सेमिनार में भाग लिया था। उन्होंने कहा था कि सेना के जवान देश सेवा के लिए नहीं, रोटी के लिए काम करते हैं। उन्हें सियाचीन में भेज कर क्यों मरवा रहे हैं? भारत माता की फोटो ये ही क्यों है? इसकी जगह दूसरी फोटो होनी चाहिए।

निवेदिता ने सवाल करते हुए पूछा था कि भारत माता के हाथ में जो झंडा है, वह तिरंगा क्यों है? यह झंडा देश के आजाद होने के बाद का है, पहले ऐसा नहीं था। पहले इसमें चक्र नहीं था। मैं नहीं मानती इस भारत माता को।

इस मामले पर जय नारायण व्यास यूनिवर्सिटी के कुलपति आर. पी. सिंह ने बताया कि हमने मेनन और सेमिनार के आयोजन सचिव राज श्रीराणावत के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। कुलपति ने बताया कि उन्होंने एक जांच टीम का भी गठन किया है जो पूरे मामले की छानबीन करेगी।

इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि जब उन्होंने प्रोफेसर मेनन से बात की तो उन्होंने इस सारे आरोपों को गलत बताया। मेनन ने कहा कि सभी आरोप झूठे हैं और उन्होंने ऐसा कुछ नहीं बोला था। उन्होंने कहा कि किसी दूसरे प्रोफेसर ने पिछले साल ऐसा कहा था। उन्होंने आगे कहा कि कार्यक्रम करवाने वाले लोगों ने उनके बारे में लोगों को बताते हुए नाम गलत लिया जिसकी वजह से गलत फहमी हुई।

मेनन ने कहा कि मैंने कश्मीर के बारे में कुछ नहीं कहा। जवानों वाली बात पर उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा था कि आर्मी भी जीविका चलाने का साधन है और अगर हम अपने जवानों को प्यार करते हैं तो उनसे गलत व्यवहार क्यों करते हैं।

TOPPOPULARRECENT