Sunday , December 17 2017

JNUSU प्रेसिडेंट के माता पिता ने कहा , हमारा बेटा हिंदुत्व की राजनीति का शिकार

jnu

पटना: जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किये जाने के एक दिन बाद बिहार में रहने वाले उसके माता-पिता ने कहा कि उनके बेटे को राष्ट्र विरोधी नहीं है बल्कि उसे हिंदुत्व की राजनीति के विरोध के लिए प्रताड़ित किया जा रहा है।

पैरालीसिस से पीड़ित कन्हैया कुमार के पिता जयशंकर सिंह ने हफ़्ते के रोज़ कहा कि, “मेरा बेटा राष्ट्र विरोधी नहीं है। उसका राष्ट्रवाद विरोधी विचारधारा का पालन करने का कोई सवाल ही नहीं है। वह अपनी उम्र के सैकड़ों, हजारों युवाओं की तरह एक राष्ट्रवादी है, “|

कन्हैया मां मीना देवी ने बताया कि उनका बेटा राष्ट्रवादी है लेकिन आरएसएस-भाजपा के हिंदुत्व का समर्थक नहीं है।उन्होंने कहा कि “हमें उसकी वामपंथी विचारधारा पर गर्व है। उस में कुछ भी गलत नहीं है वह दक्षिणपंथी राजनीति के खिलाफ लड़ रहा है और इसके लिए उसे निशाना बनाया जा रहा है” |

कन्हैया के माता पिता बिहार राज्य में वामपंथी या कम्युनिस्ट राजनीति का गढ़ माने जाने वाले बिहार के बेगूसराय जिले के मदनपुर गांव में रहते हैं | एक दौर था जब बिहार के बेगूसराय को ‘लेनिनग्राद’ के तौर पर जाना जाता था |

सिंह ने कहा कि उनका बेटा अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों द्वारा एक साजिश के तहत गिरफ्तार किया गया है |
मीना ने कहा कि उन्हें यकीन है कि उनका बेटा हिन्दुत्व की राजनीति के खिलाफ लड़ाई जीतेगा |
कन्हैया के गाँव के ज़्यादातर लोग राजद्रोह के आरोप में हुई उसकी गिरफ्तारी को लेकर दु: खी हैं।
गांव के एक युवा संतोष कुमार ने बताया कि, “हमने पिछले साल कन्हैया के जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष चुने जाने पर खुशियाँ मनाई थीं यह हमारे लिए एक गर्व का क्षण था। लेकिन अब हम उनकी गिरफ्तारी पर परेशान हैं। हम ये क़बूल नहीं कर सकते हैं कि वह राष्ट्र विरोधी है” |
एक अन्य ग्रामीण राम चंदर सिंह संतोष ने इस बात का समर्थन करते हुए कहा कि कन्हैया राष्ट्र विरोधी नहीं हो सकता “हमारी मिट्टी ने अब तक राष्ट्रवादी ही पैदा किये हैं ।”

गौरतलब है कि, कन्हैया कुमार को कथित तौर पर संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु, जिसे 2013 में दे दी गयी थी, की मृत्यु के उपलक्ष्य में जेएनयू कैम्पस में छात्रों द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में भारत विरोधी नारे लगाने के लिए जुमे के रोज़ को गिरफ्तार किया गया है |

TOPPOPULARRECENT