Friday , February 23 2018

चुनावी वादे के आधार पर हर किसी को नहीं दी जा सकती नौकरी: उपराष्ट्रपति

नई दिल्ली: केंद्र के मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने में कुछ ही दिन रह गये हैं। चुनाव के दौरान पीएम मोदी विकास की राह पर ले जाकर युवाओं को रोजगार देने का जो वादा किया था उसे पूरी करने में नाकाम रही सरकार देश में चारों तरफ बेरोजगारी के मसले पर घिरती नजर आ रही है। वहीँ पकौड़े पर जारी घमासान के बीच देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि देश में हर किसी को नौकरी नहीं दी जा सकती।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

खबर के मुताबिक, नौकरियों को लेकर नीति आयोग और सीआईआई के कार्यक्रम में बोलते हुए उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने दो टूक कह दिया कि क्या इस देश में हर किसी को नौकरियां दी जा सकती हैं? नायडू ने कहा कि हर किसी को नौकरी नहीं दी जा सकती, लेकिन चुनाव के दौरान हर सरकारें ऐसा वायदा करती हैं। उन्होंने कहा कि अगर सरकारें ऐसा वायदा ना करें तो जनता उन्हें नौकरी नहीं देगी।

इतना ही नहीं नायडू ने यह भी कहा कि जो काम किसी पर निर्भर है वह अपने आप में एक काम है और इसलिए पकौड़ा बनाना भी एक काम है।

बता दें कि नाकामी के बौखलाहट में पीएम मोदी ने पिछले दिनों एक इंटरव्यू के दौरान रोजगार को लेकर ‘पकौड़ा तलने’ का उदाहरण दिया था जिसके बाद ‘पकौड़ा’ पुरे देश में सबसे हॉट मुद्दा बन गया। सोशल मीडिया पर यह बहस लगातार ट्रेंड कर रही है, और इस ‘पकौड़े’ को लेकर पीएम मोदी को तरह-तरह से ट्रोल किया जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT