Saturday , July 21 2018

‘गाली देने वालों भक्तों सुनो, मुझे मोदी से ज़्यादा NDTV और प्रणय रॉय पर भरोसा है’

न्यूज़ चैनल एनडीटीवी की खबरें शेयर करने पर पत्रकार निखिल वागले ट्विटर ट्रॉल के निशाने पर आ गए। ट्रोल ब्रिगेड ने निखिल को एनडीटीवी के समर्थन में बोलने के लिए खूब गालियां दी।

दरअसल कल निखिल ने ट्वीट किया था कि “प्रिय भक्तों, एनडीटीवी के समाचार शेयर करने के लिए मुझे गाली देने का कोई फायदा नहीं। मुझे प्रणय रॉय और एनडीटीवी पर नरेंद्र मोदी से ज्यादा भरोसा है।”

लेकिन यह ट्वीट मोदी समर्थकों को पसंद नहीं आया। उन्होंने एनडीटीवी के खिलाफ सीबीआई और इनकम टैक्स की जांच का हवाला देते हुए वागले पर आरोप लगाए।

दरअसल बीते हफ्ते एक निजी चैनल पर आने वाले निखिल वागले के टीवी कार्यक्रम को बंद करवा दिया गया था, जिसके बाद वागले ने आरोप लगाया कि उनका कार्यक्रम राजनीतिक दबाव की वजह से बंद करवाया गया है।

इस मामले में देश के कई पत्रकारों ने टिप्पणी की थी। रवीश ने लिखा था कि निखिल वागले का टीवी शो अचानक बंद कर दिया गया है। आपके बोलने के लिए सूचना नहीं दे रहा हूँ । मुझे पता है आपका गला दुखता है। बाकी चुप रहना ही ठीक है। चुप्पी को राष्ट्रीय मुद्रा घोषित कर देना चाहिए।

किसी भी राजनीति और सरकार का मूल्याकंन इस बात से भी किया जाना चाहिए कि उसके दौर में मीडिया स्वतंत्र है या नहीं । अगर आप बोल नहीं सकते तो कम से कम गुनगुना तो सकते ही हैं। गोदी में खेलती हैं, इसकी हज़ारों मीडिया।”

TOPPOPULARRECENT