कन्‍नड़ संगठनों के राज्‍यव्‍यापी बंद से आम जनजीवन प्रभावित

कन्‍नड़ संगठनों के राज्‍यव्‍यापी बंद से आम जनजीवन प्रभावित

कर्नाटक में कन्‍नड़ संगठनों की ओर से गुरूवार को आहूत राज्‍यव्‍यापी बंद से आम जनजीवन प्रभावित है। इन संगठनों की काफी समय से मांग है कि केंद्र सरकार महादायी नदी जल बंटवारे के मुद्दे पर दखल दे। बंद के मद्देनजर सरकारी कर्मचारियों की एसोसिएशन ने बंद का समर्थन किया है और सरकारी कार्यालय बंद हैं।

शहर के निजी स्‍कूलों ने बुधवार को ही अवकाश घोषित कर दिया था। कर्नाटक के मुख्‍मंत्री सिद्धारमैया ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। शहर पुलिस आयुक्त ने कहा कि बंद को देखते हुए 15 हजार पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। बैंगलोर यूनिवर्सिटी और विश्‍वेश्‍वरैया टेक्‍नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी ने अपनी परीक्षाएं टाल दी हैं।

पहले परीक्षाएं 25 जनवरी को होनी थी, जो अब 6 फरवरी को कराई जाएंगी। कर्नाटक परिवहन निगम कर्मचारी संघ ने कहा है कि उत्‍तर-पश्चिम कर्नाटक सड़क परिवहन निगम के ड्राइवरों ने बंद के समर्थन का फैसला किया है, ऐसे में उत्‍तरी कर्नाटक में बसों के आवागमन में दिक्‍कत आ सकती है।

गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने कन्नड़ समर्थक संगठनों से कहा है कि 25 जनवरी को बंद को शांतिपूर्ण तरीके से किया जाए। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी जिलों में पुलिस को निर्देश जारी किए गए हैं।

बंद के दौरान पेट्रोल पंप, अस्‍पताल और दवा की दुकानें खुली हैं। मेट्रो चल रही है। इसके अलावा ओला,उबर जैसी सेवाएं भी जारी हैं। हालांकि ऑटोरिक्‍शा ड्राइवर्स एसोसिएशन ने बंद को समर्थन दिया है।

राज्‍य में गुरुवार को फिल्‍मों की शूटिंग नहीं हो सकेगी। बहुत सारे थियेटर्स ने बंद के चलते ‘पद्मावत’ फिल्‍म को एक दिन पहले ही रिलीज कर दिया है। राज्य के अधिकतर कन्नड़ संगठनों ने बंद का समर्थन किया है।

Top Stories