कानपुर एनकाउंटर: कई अहम खुलासे हुए!

कानपुर एनकाउंटर: कई अहम खुलासे हुए!

कानपुर मुठभेड़ के बाद कल्याणपुर में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के साथी दया शंकर अग्निहोत्री को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

 

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, अग्निहोत्री को कल रात एक मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया था। मुठभेड़ में दयाशंकर के पैर में गोली लगी है। पुलिस और बदमाशों के बीच कल्याणपुर थाना इलाके में यह मुठभेड़ हुई थी।

 

पुलिस पूछताछ में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे का साथी और नौकर दयाशंकर ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। उसने पुलिस को बताया कि पुलिस ने विकास दुबे को दबिश की सूचना दी थी। सूचना के बाद विकास ने अपने असलहाधारी साथियों को बुला लिया था।

 

 

इसके बाद ही असलहों का जखीरा इकट्ठा किया गया। दयशंकर ने बताया कि मेरी बंदूक छीन कर विकास दुबे ने पुलिसकर्मियों पर गोलियां चलाई थी।

 

आपको बता दें कि दयाशंकर विकास दुबे के घर की नौकरानी रेखा का पति है, और विकास के साथ असलाधारी के रूप में रहता है। फिलहाल पुलिस दयाशंकर से पूछताछ में जुटी है और विकास दुबे की तलाश कर रही है।

 

पुलिस के मुताबिक ये मुठभेड़ जवाहर पुरम में हुई है. इस शख्स पर यूपी पुलिस ने 25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर रखा था।

 

मुठभेड़ के बाद पुलिस ने दयाशंकर का प्राथमिक उपचार करवाया है और उससे पूछताछ करने की कोशिश कर रही है। दयाशंकर से पुलिस को घटना के वक्त की जरूरी जानकारियां मिल सकती है।

 

 

 

आज तक पर छपी खबर के अनुसार, कानपुर पुलिस ने बताया कि पुलिस टीम ने दयाशंकर को घेरकर सरेंडर करने को कहा, लेकिन सरेंडर करने के बजाय दयाशंकर देशी तमंचे से पुलिस पर फायरिंग करने लगा।

 

इस दौरान पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की, दोनों ओर से हुई क्रॉस फायरिंग में दयाशंकर को पैर में गोली लगी इसके बाद वो घायल हो गया। तस्वीरों में दयाशंकर अपने हाथ में एक देशी तमंचे के साथ दिख रहा है।

 

कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की मौत की वजह बनने वाले विकास दुबे की पुलिस शिद्दत से तलाश कर रही है।

 

पुलिस ने विकास दुबे के ऊपर रखी गई इनाम की राशि को 50 हजार से बढ़ाकर 1 लाख कर दिया है। हालांकि अबतक विकास दुबे की कोई जानकारी पुलिस को नहीं मिल पाई है।

 

इस घटना में शामिल विकास दुबे के दूसरे गुर्गों की गिरफ्तारी के लिए भी पुलिस छापेमारी कर रही है।

 

इन गुर्गों में श्यामू बाजपेई, छोटू शुक्ला ,जेसीबी चालक मोनू, जहान यादव, दयाशंकर अग्निहोत्री, शशिकांत, पंडित शिव तिवारी, विष्णु पाल, राम सिंह, राम बाजपेई, अमर दुबे, प्रभात मिश्रा, गोपाल सैनी, वीरू भवन, शिवम दुबे, बालगोविंद और बउवा दुबे शामिल हैं. इनके पर 25-25 हजार का इनाम घोषित है।

Top Stories