नागरिकता संशोधन बिल धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ़ है- कपिल सिब्बल

नागरिकता संशोधन बिल धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ़ है- कपिल सिब्बल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक (कैब) को लेकर सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह विधेयक एक ऐसी ‘कैब’ है जिसका चालक विभाजनकारी है।

नागरिकता (संशोधन) विधेयक (कैब) पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के गैर मुस्लिम अल्पसंख्यकों को अत्याचार से बचने के लिए भारत में नागरिकता प्रदान करने के लिए है।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, कांग्रेस ने कहा कि संसद में वह इस विधेयक का कड़ा विरोध करेगी क्योंकि यह देश के संविधान और धर्मनिरपेक्ष मूल्यों के खिलाफ है।

सिब्बल ने ट्वीट किया, ‘‘ कैब विधेयक एक ऐसी कैब है जिसका चालक विभाजनकारी है जिसकी नजर राजनीतिक लाभ उठाने के साथ हमारे सामाजिक और संवैधानिक मूल्यों को अस्थिर और नष्ट करने पर है। हाथ मिलाओ देश बचाओ।’’

नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 के मुताबिक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के कारण 31 दिसम्बर 2014 तक भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को अवैध शरणार्थी नहीं माना जाएगा बल्कि उन्हें भारतीय नागरिकता दी जाएगी।

Top Stories