Wednesday , July 18 2018

कर्नाटक विधानसभा चुनावों के नतीजों का दूर तक होगा असर

कर्नाटक विधानसभा चुनावों को अगले साल 2019 में होने लोकसभा चुनाव से पहले का सेमीफाइनल माना जा रहा है, लेकिन इसका असर सिर्फ लोकसभा चुनावों पर ही नहीं बल्कि उससे पहले होने वाले मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के चुनावों पर भी होगा। कर्नाटक चुनाव के जो भी नतीजे होंगे, वह आने वाले एमपी, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए एक माहौल सेट करेंगे।

यदि कर्नाटक में कांग्रेस बाजी मारती है तो बीजेपी के लिए इन राज्यों में अपनी कुर्सी बचा पाना और चुनौती भरा साबित होगा। वहीं यदि कांग्रेस हारती है तो उसके लिए इन राज्यों में सत्ता विरोधी लहर तैयार करना चुनौती भरा काम होगा।

लंबे समय से सत्ता में रहने के कारण तीनों राज्यों के बीजेपी को सत्ता विरोधी लहर का सामना करना पड़ेगा। यदि कर्नाटक में नीतेजी बीजेपी के मनमुताबिक नहीं आते हैं तो कांग्रेस के लिए इस लहर को हवा देना और आसान हो जाएगा। कांग्रेस को कर्नाटक में हार का मुंह देखना पड़ा तो बीजेपी के लिए इन राज्यों में भी कांगेस के खिलाफ माहौल बनाने में आसानी होगी।

माना जा रहा है कि स्थानीय मुद्दों और दोनों पार्टियों के अक्रामक चुनाव प्रचार की वजह से कर्नाटक का चुनाव काफी दिलचस्प हो गया है। इससे पहले कभी भी कर्नाटक का चुनाव पूरे देश के लिए इतना महत्वपूर्ण नहीं रहा। जानकारों का मानना है कि यह पहला मौका है, जब कर्नाटक चुनाव यूपी और बिहार चुनाव जितना ही महत्वपूर्ण बन गया है।

TOPPOPULARRECENT