लिंगायत समुदाय को अलग धर्म का दर्जा नहीं देगी सरकार : अमित शाह

लिंगायत समुदाय को अलग धर्म का दर्जा नहीं देगी सरकार : अमित शाह
Click for full image

अमित शाह ने लिंगायत और वीरशैव लिंगायत मुद्दे को लेकर यह साफ कर दिया है कि उन्हें अलग धर्म का दर्जा केंद्र सरकार नहीं देगी। अमित शाह ने कहा कि लिंगायत समुदाय के सभी महंतों का यह कहना है कि समुदाय को बंटने नहीं देना है। मैं इस बात का भरोसा दिलाता हूं कि ऐसा नहीं होगा।

जब तक भाजपा की सरकार है किसी भी तरह का बंटवारा नहीं होगा। हम इसको लेकर प्रतिबद्ध है। उन्होंने इसे बीएस येदियुरप्पा को कर्नाटक का अगला मुख्यमंत्री बनने से रोकने की साजिश बताया है। राज्य में 12 मई को विधानसभा चुनाव हैं। नतीजे 15 मई को घोषित किए जाएंगे।

अमित शाह ने वीरशैव लिंगायत के महंतों से कहा कि लिंगायत समुदाय को धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा देने की राज्य सरकार की सिफारिश को केंद्र सरकार नहीं मानेगी। वहीं, भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने लिंगायत को अलग धर्म का दर्जा देने के सुझाव को सिद्धारमैया सरकार की मंजूरी पर कहा कि यह येदियुरप्पा जी को कर्नाटक का सीएम बनने से रोकने की रणनीति है। वे लिंगायत वोटों का धुव्रीकरण चाहते हैं, लेकिन समुदाय इसे लेकर जागरुक है। चुनाव के बाद भाजपा अपना रुख स्पष्ट करेगी।

Top Stories