Saturday , July 21 2018

कश्मीर: सरकार के वार्ताकार ने कहा, घाटी में सुरक्षा बलों को नागरिक हत्याओं को रोकना होगा

कश्मीर पर भारत सरकार के वार्ताकार ने बुधवार को सुरक्षा बलों से घाटी में ‘संयम दिखाने’ की अपील करते हुए नागरिक हत्याओं को रोकने की बात कही। खुफिया ब्यूरो के पूर्व प्रमुख दिनेश शर्मा ने एक साक्षात्कार में कहा कि नागरिक हत्याओं को रोकना होगा। सुरक्षा बलों को संयम दिखाना चाहिए और अनावश्यक फायरिंग का सहारा नहीं लेना चाहिए।

यहाँ हो रही हिंसा एक झटका है। दक्षिण कश्मीर में जिलों में लोग गुस्से में है। कश्मीर के लोगों के साथ हमें संवेदनशील होना चाहिए। शर्मा को 23 सितंबर को केंद्र द्वारा एक विशेष प्रतिनिधि के रूप में नियुक्त किया गया था ताकि सभी हितधारकों के साथ निरंतर बातचीत हो सके और उन्होंने जम्मू-कश्मीर के कई दौरे किए, जिनमें एक फरवरी को शोपियां भी शामिल था, जहां जनवरी में सेना की गोलियों से तीन नागरिकों की मौत हो गई थी।
 
वार्ताकार के रूप में घाटी की अपनी पहली यात्रा के बाद शर्मा ने पहली बार पथराव करने वालों के खिलाफ मामलों की वापसी की सिफारिश की। इसकी घोषणा कुछ दिनों बाद नवंबर में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने की थी। सद्भावना के संकेत के रूप में मामले वापस ले लिए गए, लेकिन सेना ने इस फैसले पर सवाल उठाया है।

सेना के अधिकारी मेजर आदित्य को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य पुलिस को जांच करने से रोक दिया और कहा, वह (मेजर आदित्य कुमार) एक सेना अधिकारी है, अपराधी नहीं है। शर्मा ने कहा कि वह संकटग्रस्त जिले में वापस जाने और युवा लोगों के साथ जुड़ने की योजना बना रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं फिर से शोपियां का दौरा करूंगा’। उन्होंने कहा, ‘जब मैं कश्मीर को संकट में देखता हूं तो मुझे बहुत दुख होता है।

TOPPOPULARRECENT