कश्मीर. धार्मिक सद्भाव की अनोखी मिसाल, कश्मीरी पंडित का अंतिम संस्कार मुस्लिम पड़ोसियों ने किया

कश्मीर. धार्मिक सद्भाव की अनोखी मिसाल, कश्मीरी पंडित का अंतिम संस्कार मुस्लिम पड़ोसियों ने किया
Click for full image

श्रीनगर: कश्मीरी मुसलमानों ने एक बार फिर धार्मिक सद्भाव, भाईचारे और इंसानियत की बेहतरीन मिसाल कायम करते हुए स्थानीय कश्मीरी पंडित मोतीलाल राज़दान का अंतिम संस्कार अदा किया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह न्यूज़ 18 के अनुसार मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले के वोसन नामक गांव के निवासी मोतीलाल रविवार के दिन बीमारी के बाद मर गये, जिसके बाद उनके पड़ोसी कश्मीरी मुसलमानों की एक विशाल भीड़ ने न केवल स्वर्गीय मोतीलाल का अंतिम संस्कार किया बल्कि उनकी अर्थी को अपने कंधों, पर उठाने के अलावा चिता को आग लगाने के लिए जरूरी चीजों का इन्तेजाम भी किया।

मोतीलाल के बारे में बताया जाता है कि 19 वीं शताब्दी में जब ज्यादातर कश्मीरी पंडितों ने घाटी को छोड़ दिया था, तो वे यहाँ अपने मुस्लिम भाइयों के साथ रहना बेहतर समझा। रविवार को जब मोतीलाल के सरगवास की सूचना वोसन में फैल गई तो पड़ोसी मुसलमान भाइयों की एक बड़ी संख्या उनके घर पर उमड़ आई, जिन्होंने धार्मिक सद्भाव, इन्सनित और कश्मीरियत का सबूत पेश करके उनके अंतिम संस्कार को अंजाम तक पहुंचाया। वोसन के वासियों ने कहा कि मोतीलाल के मृत्यु होने से हमने अपने परिवार के सदस्य को खो दिया है।

Top Stories