Tuesday , December 12 2017

VIDEO- यह कश्मीरी गायक अपने रैप से कर रहा है रोहिंग्या नरसंहार का विरोध!

श्रीनगर: आमिर अमी जो श्रीनगर की घाटी के हैं, जानते हैं कि उत्पीड़न क्या होती है। कश्मीर की तरह एक क्रूर लेकिन सुंदर जगह में रहते हुए आमिर एक रैपर है, जिन्हें एमसी अमे नाम से भी जाना जाता है। उन्होंने अपने रैप में रोहिंग्या नरसंहार को रखा है।

23 वर्षीय आमिर ने जो बिजनेस मैनेजमेंट की पढाई कर रहे हैं, म्यांमार में हो रहे अत्याचार के खिलाफ अपने संगीत के माध्यम से अपनी बात रखी है। 3 मिनट के लंबे ट्रैक में उन्होंने राखीन राज्य की कुछ भयानक फ़ोटो दिखाई हैं।

अमे ने बताया कि ट्रैक कैसे आया. उन्होंने कहा, “मैं अपने खाली समय में, अपने लिस्नर्स के साथ बातचीत करता था और उनके विचारों को इकट्ठा करता था। मैंने सोशल मीडिया पर अपने उस ही रूटीन का पालन किया, और मुझे रोहंगिया गांव के कुछ दिल-टूटने वाले दृश्य मिले।”

एक वीडियो में कुछ लोग कुल्हाड़ियों, तलवारों और बंदूकों से लैस थे, वह कुछ रोहिंग्या महिलाओं को टार्चर कर रहे थे. उस दृश्य को देखकर उनके आँखों में आंसू आ गये. उन्होंने कहा, “राखीन राज्य में लोग इतने बेरहमी से हत्या कर रहे हैं और कोई भी रोहिंग्या के लोगों की मदद नहीं कर रहा है। मैंने रोहिंग्या के लोगों के लिए कुछ करने का फैसला किया है।

रोहिंग्या लोगों के दुख की तुलना करते हुए, आमिर ने कश्मीर घाटी में कश्मीरी लोगों पर हुए अत्याचारों को याद किया।

अभी यह युवा रैपर अपने म्यूजिक करियर पर ध्यान दे रहा है जिसकी 2017 के अंत तक एक एल्बम आने वाली है और उसका “हस्टीर” नाम के साथ एक रिकॉर्ड लेबल शुरू करने का एक लक्ष्य है।

हालांकि, वह उत्पीड़न की आवाज बनना चाहता है. उन्होंने कहा, “मैं और मेरी टीम कुछ एनजीओ के साथ मिलकर रोहिंग्या के लोगों के लिए मदद करना चाहते हैं और मैं हमेशा आवाजहीन लोगों के लिए उनकी आवाज़ बनूँगा।”

देखें विडियो :

TOPPOPULARRECENT