कश्मीर में पैलेट गन का शिकार हुई मासूम हिबा की जा सकती है एक आँख की रौशनी- डॉक्टर

कश्मीर में पैलेट गन का शिकार हुई मासूम हिबा की जा सकती है एक आँख की रौशनी- डॉक्टर

कश्मीर में पैलेट गन का शिकार हुई 20 महीने की एक मासूम की एक आँख की रौशनी जा सकती  है। डॉक्टरों ने चेतावनी दी है कि वह अपनी दाहिनी आंखों की स्थायी रूप से रौशनी खो सकती है।

बता दें की कश्मीर की मासूम हिबा  रविवार ( 25 नवंबर) को  उस समय पैलेट गन की चपेट में आई जब वह अपने घर के अन्दर खेल रही थी और अचानक से पैलेट गन का एक छर्रा आकर उसकी आंख में लग गया। बच्ची को श्रीनगर के महाराजा हरि सिंह अस्पताल के नेत्र विभाग में लाया गया। डाक्टरों के अनुसार उसकी एक आंख की रोशनी भी जा सकती है।

25 नवंबर को मुठभेड़ के बाद स्थानीय लोगों और सुरक्षाबलों के बीच झड़प हुई थी। उसी दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि बच्ची हीबा घायल हो गई। हीबा की मां मर्साला ने बताया कि बाहर झड़पें हो रहीं थी तब वह अपने दो बच्चों के साथ घर के अन्दर थी। उन्होंने कहा कि बाहर आंसू गैस के गोले दागे जा रहे थे। मेरे  पांच साल के बेटे ने सांस लेने में तकलीफ बताई तो मैने बाहर खुले में जाने का फैसला किया और जैसे ही हम बाहर निकलने लगे, तीन सुरक्षाकर्मियों ने पेलैट गन से हमारे ऊपर फायर कर दिया। यह परिवार शोपियां के बांटगुंड के कीरपान में रहता है। हीबा पैलेट लगने से घायल हो गई और उसे फौरन अस्पताल ले जाया गया पर डाक्टरों ने उसे श्रीनगर रेफर कर दिया था ।

 

Top Stories