Friday , September 21 2018

कठुआ रेप कांड- J&K सरकार से BJP के दो मंत्रियों ने दिया इस्तीफा

कठुआ के रसाना कांड को लेकर देशभर में मचे बवाल के बीच एक बार फिर से रियासत की सियासत का पारा गर्म हो गया है। भारी दबाव के चलते भाजपा के दो मंत्रियों से इस्तीफा ले लिया गया है। शुक्रवार को उद्योग मंत्री चंद्र प्रकाश गंगा तथा वन मंत्री चौधरी लाल सिंह ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को इस्तीफा सौंप दिया।

प्रदेश अध्यक्ष सत शर्मा ने इस्तीफा सौंपे जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि दोनों ने नैतिकता के आधार पर सौंपा है न कि पार्टी ने इस्तीफा मांगा है। शनिवार को राष्ट्रीय महासचिव राम माधव की मौजूदगी में होने वाली विधायक दल की बैठक में इस्तीफा स्वीकार करने पर फैसला लिया जाएगा।

सूत्रों का कहना है कि इस्तीफे के पीछे गठबंधन सहयोगी पीडीपी तथा पीएमओ का दबाव मुख्य वजह है। बताया जा रहा है कि पीडीपी प्रमुख तथा मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर अपनी ही पार्टी के मंत्रियों तथा विधायकों का भारी दबाव था। इनका कहना था कि भाजपा के इन मंत्रियों की वजह से पार्टी की छवि धूमिल हो रही है।

इसका भारी खामियाजा उठाना पड़ सकता है। बताया जा रहा है पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला की ओर से भी दोनों मंत्रियों को बर्खास्त करने में देरी पर सवाल उठाए गए थे। इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से भी इस मामले तो संज्ञान में लिया गया है।

बता दें कि दोनों मंत्रियों ने कठुआ कांड में आरोपियों की बचाने के लिए 1 मार्च को निकाली गई रैली में हिस्सा लिया था। जिसके बाद से ही वो विवादों के घेरे में थे। नेशनल कांफ्रेंस की नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर सीएम महबूबा से उनपर कार्रवाई करने की मांग कर रहे थे।

गौरतलब है कि बीजेपी नेता और रियासत के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह पहले ही ये कह चुके हैं कि आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा। बच्ची को न्याय दिया जाना चाहिए। इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। जिन्होंने ये किया उनका कोई धर्म नहीं है जैसे आतंकियों का कोई धर्म नहीं होता है।

सभी समुदाय, हिंदू और मुस्लिम उस बच्ची को इंसाफ दिलाने के लिए लड़ रह हैं। लेकिन कुछ असंतुष्ट तत्व गलत संदेश देने का प्रयास कर रहे हैं इस मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रहे स्थानीय लोगों के साथ मे ये दोनों मंत्री भी शामिल हुए थे। ये रैली हिंदू एकता मंच की ओर से निकाली गई थी।

TOPPOPULARRECENT