कठुआ रेप मामले ने लिया हिन्दू-मुस्लिम रंग, दो सिख पुलिस अफसरों की नियुक्ति की मांग

कठुआ रेप मामले ने लिया हिन्दू-मुस्लिम रंग, दो सिख पुलिस अफसरों की नियुक्ति की मांग

नई दिल्ली। कठुआ में 8 साल की मासूम के साथ बलात्का और हत्या मामले में अब हिंदू और मूस्लिम मामले की झलक देखने को मिल रही है जिसके बाद अब इस मामले की आगे जांच करने के लिए जम्मू कश्मीर पुलिस ने दो सिख पुलिस अफसरों की नियुक्ति की मांग की है।

जम्मू और कश्मीर पुलिस सूत्रों का कहना है कि क्राइम ब्रांच के मामले को भूपिंदर सिंह और हरमिंदर सिंह के हवाले कर देना चाहिए। भूपिंदर सिंह जम्मू एवं कश्मीर पुलिस अभियोजन पक्ष के मुख्य अभियोजन अधिकारी हैं, जबकि हरमिंदर सिंह सांबा के मुख्य अभियोजन अधिकारी हैं।

पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने इस संबंध में पहले ही प्रधान सचिव (गृह) को जानकारी दी है। उन्होंने मीडिया को बताते हुए कहा कि मेरे लिए वे पुलिस अधिकारी हैं। वास्तव में, जो लोग इस मामले में क्राइम ब्रांच की जांच का विरोध कर रहे थे, वे हमारी टीम के खिलाफ आरोप लगाने की कोशिश भी कर रहे थे।

वहीं,कठुआ मामले के आरोपपत्र से इस बात का खुलासा हुआ है कि आठ वर्षीय बच्ची को नशीली दवा दे कर रखा गया था और उसकी हत्या से पहले दरिंदों ने फिर से उसे हवस का शिकार बनाया था।

जम्मू कश्मीर पुलिस की अपराध शाखा ने यहां सोमवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में 15 पृष्ठों का आरोपपत्र दाखिल किया। इसमें इस बात का खुलासा हुआ है कि बकरवाल समुदाय की बच्ची का अपहरण , बलात्कार और हत्या करना इलाके से इस अल्पसंख्यक समुदाय को हटाने की एक सोची समझी साजिश का हिस्सा थी।

Top Stories