Thursday , September 20 2018

कठुआ बलात्कार पीड़िता को दवाओं का ज्यादा डोस दिया, आरोपित परिवार का इनकार

नई दिल्ली। कठुआ बलात्कार की आठ वर्षीय पीड़िता को मंदिर में बंदी बनाकर रेप किया गया और उसको इस दौरान दवाओं का हैवी डोस दिया गया था। हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट में अपराध शाखा के अधिकारी का हवाला देते हुए कहा गया है कि पीडि़त को तीन दिन में आठ गोलियां निगलने के लिए मजबूर किया गया था।

अधिकारी ने कहा कि पीड़ित के माता-पिता अपहरण के एक दिन बाद मंदिर पहुंचे लेकिन उन्हें वहां प्रवेश करने की इजाजत नहीं दी गई थी। अधिकारी ने कहा कि 13 जनवरी को लड़की की हत्या कर दी गई थी और उसे 16 जनवरी तक मंदिर में रखा गया था।
 
दूसरी तरफ, 62 वर्षीय सेवानिवृत्त राजस्व विभाग के अधिकारी सानजी राम ने कथित मास्टरमाइंड के परिवार से इनकार करते हुए सभी आरोपों का खंडन किया है। राम के 22 वर्षीय पुत्र विशाल जंगतोरा के बारे में एक और आरोपी परिवार ने कहा कि वह घटना के दौरान मेरठ में थे।

राम और विशाल के खिलाफ गंभीर आरोपों के बारे में पूछे जाने पर परिवार ने कहा, “आरोपियों को अत्याचार के बाद चार्जशीट बनाया गया था और उन्हें कबूल करना पड़ा था। परिवार ने आरोप लगाया है कि किशोर ने पुलिस को उसके चाचा संजी राम नाम की धमकी दी थी।

TOPPOPULARRECENT