Friday , December 15 2017

तेलंगाना में उर्दू को दिया गया दूसरी आधिकारिक भाषा का दर्जा

तेलंगाना सरकार ने उर्दू जुबां के लिए एतिहासिक फ़ैसला लिया है। तेलानागा विधानसभा मे मंमुख्यमंत्री  के चंद्रशेखर राव ने राज्य में उर्दू को दूसरी आधिकारिक भाषा बनाने की घोषणा की । इसका मतलब ये हुआ की अब से  सरकारी कामकाज में तेलुगू के बाद उर्दू में भी कामकाज किया जा सकेगा।

अपने संबोधन में मुख्यमंत्री केसीआर ने कहा, “लंबे समय से मांग की जा रही थी कि उर्दू को दूसरी आधिकारिक भाषा बनाई जाय। हालांकि, आंध्र प्रदेश का दृष्टिकोण तेलंगाना से अलग है। 23 जिलों में उर्दू भाषी लोग नहीं हैं, इसलिए वहां कुछ जिलों में यह लागू है और कुछ जिलों में नहीं है लेकिन हम यहां जिला स्तर पर नहीं बल्कि राज्य स्तर पर उर्दू को दूसरी आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाने का एलान करते हैं। अब पूरे तेलंगाना में उर्दू में भी कामकाज किया जा सकेगा।”

TOPPOPULARRECENT