Wednesday , September 26 2018

सीरिया में हत्याएं : विभिन्न धर्मों के लोगों ने की शांति के लिए प्रार्थना

चेन्नई। युद्धरत देश सीरिया की शांति के लिए देश भर में प्रार्थना की जा रही है। इसके लिए विभिन्न धर्मों के लोग चेन्नई के एक चर्च में एकत्रित हुए और वहां के सीरिया के लोगों के लिए प्रार्थना की। उन्होंन लोगों की पीड़ा को खत्म करने के लिए सीरिया में चल रहे गृहयुद्ध को खत्म करने अपील की। सीरिया में 2011-12 से अशांति शुरू हुई और इस गृहयुद्ध के चलते अब तक 4,50,000 से अधिक नागरिकों ने अपनी जान गंवा दी है। घौटा, अलेप्पो और सीरिया के अन्य शहरों में कई निर्दोष लोगों की हत्या हो रही है।

ये शहर आधुनिक घातक हथियारों के परीक्षण के लिए प्रयोगशाला बन गए हैं। विश्व की राष्ट्रों ने अपने प्रयासों को केवल यूएनओ में संकल्प पारित करने के लिए सीमित कर दिया था। संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद इन हत्याओं के लिए कोई चिंता नहीं दिखा रही है। 57 से अधिक मुस्लिम देशों के प्रमुख अपनी आवाज बढ़ाने के लिए पर्याप्त हिम्मत नहीं रखते।


 
सीरिया पर हवाई हमलों के खिलाफ हैदराबाद के याकूतपुरा में एक विरोध रैली का आयोजन किया गया जिसमें अनेक बच्चों सहित सैकड़ों निर्दोष लोग मारे गए थे। इस बीच, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के छात्रों ने शुक्रवार को सीरिया में चल रहे मानवतावादी संकट के खिलाफ शहर में प्रदर्शन किया। छात्रों ने स्टैड होल्डिंग प्लेकार्ड और यूएनओ डाउन जैसे नारे लगाए।

एक प्रदर्शनकारियों ने एएनआई को बताया कि वे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक ज्ञापन प्रस्तुत करेंगे और उसी की एक प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और सीरिया दूतावास को भेजेंगे। उन्होंने कहा कि यदि इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है, तो वे दिल्ली में सीरिया दूतावास के बाहर विरोध करेंगे।

हमने सीरिया के लोगों और बच्चों पर किए गए अन्याय के खिलाफ एक प्रदर्शन किया। हम चाहते हैं कि भारत सरकार संयुक्त राष्ट्र पर दबाव बनाये। सीरिया के नागरिक रक्षा सूत्रों के मुताबिक व्हाइट हेलमेट ने 30 दिन के युद्ध विराम के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की मांग के बावजूद सीरिया में पूर्वी घॉटा में हवाई हमलों और गोलीबारी जारी रखी थी।

TOPPOPULARRECENT