मनोहारी चाय बागान की असम गोल्ड टी बिकी 50 हजार रुपये किलो!

मनोहारी चाय बागान की असम गोल्ड टी बिकी 50 हजार रुपये किलो!

चाय की चुस्की हमारी जिंदगी का हिस्सा बन गया है। बेहतर चाय पीने के लिए हम हर कीमत देने के लिए तैयार है। पर असम के चाय बगानों में एक ऐसी चाय तैयारी की गई है जिसकी कीमत जानकर आपके होश उड़ जाएंगे।

जी हां, हम बात कर रहे है असम के डिब्रुगढ़ की मनोहरी गोल्ड टी की। सोने की तरह चमकने वाली इस चाय की कीमत 50 हजार रूपए प्रति किलो है।

दरअसल गुवाहाटी चाय नीलामी केंद्र में उत्तम किस्म की चाय की बोली लगी। मनोहरी चाय बागान की मनोहरी गोल्ड टी ने फिर एक बार इतिहास रच दिया।

प्रति किलो मनोहरी गोल्ड टी की बोली 50 हजार रूपए लगाई गई। यह इस नीलामी केंद्र का अब तक का रिकार्ड है। पिछले साल मनोहरी गोल्ड चाय 39,001 रुपए प्रति किलो में बिकी थी। बाद में इस रिकॉर्ड को अरुणाचल प्रदेश के डोनियो पोलो चाय बागान ने तोड़ा था। उसकी चाय चालीस हजार रुपए प्रति किग्रा बिकी थी।

हाथ से तैयार की गई मनोहरी गोल्ड चाय को सूर्योदय के समय चाय पत्तियां तोडक़र तैयार किया जाता है। एक दिन में इसे सिर्फ 50 ग्राम ही तैयार किया जा सकता है। यह दिखने में 24 कैरट सोने की तरह चकमक करती है।

मनोहरी चाय बागान के मालिक लोहिया ने कहा कि नीलाम केंद्र में इतने ऊंचे दामों पर हमारी चाय बिकने से असम के चाय उद्योग का संकट दूर होगा। इससे यह बात भी साबित हुई है कि चाय के शौकीन बेहतर चाय के लिए कितनी भी कीमत देने को तैयार हैं। असम देश के कुल चाय उत्पादन के पचास फीसदी का उत्पादन करता है।

पत्रिका पर छपी खबर के अनुसार, गुवाहाटी नीलामी केंद्र के सचिव दिनेश बियानी ने बताया कि विश्व में किसी भी नीलामी केंद्र में इस कीमत पर चाय की बिक्री नहीं हुई है। बियानी ने कहा कि नीलाम केंद्र ऐसी चाय को एक प्लेटफार्म उपलब्ध करा रहा है जो नए रिकार्ड बना रही है।

इस तरह की चाय की देश ही नहीं विदेशों में भी काफी मांग है। इससे अन्य चाय उत्पादकताओं को भी अपनी बेहतर चाय उत्पादित करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा। वे अच्छी चाय उत्पादित कर गुवाहाटी चाय नीलामी केंद्र को भेजेंगे जो अब विशेष चाय का हब बन चुका है।