महाअष्टमी के दिन इस बार मुस्लिम लड़की की पूजा करेगा कोलकाता का ये घराना !

महाअष्टमी के दिन इस बार मुस्लिम लड़की की पूजा करेगा कोलकाता का ये घराना !

कोलकाता का दुर्गा पूजा हिन्दू-मुस्लिम भाईचारे व शौहार्द का प्रतिक है. यहाँ का एक परिवार चार साल की मुस्लिम लड़की को कन्या पूजा के रूप में पूजा करेगा –  बताया गया है ये रिवाज महाअष्टमी दिन बरसो से होता आ रहा है ।

खबर के मुताबिक इस बार आगरा के मुहम्मद ताहिर जो फतेहपुर सीकरी में एक किराने की दुकान चलाते हैं इस बार पंडाल ने उनकी बेटी फातिमा की पूजा कमल दत्ता और बागुती दत्त के घर में की जाएगी।

खबर के मुताबिक कमल दत्ता, उत्तर 24 परगना में कमरहटी नगरपालिका के एक इंजीनियर और उनकी पत्नी मौसुमी 2013 से दुर्गा पूजा का आयोजन कर रही हैं।

उन्होंने कहा “जब से हमने दुर्गा पूजा शुरू की है, हम हर साल महा अष्टमी पर लड़की की पूजा करते हैं। हमने सबसे पहले एक ब्राह्मण लड़की से शुरुआत की। लेकिन बाद के वर्षों में, हमने गैर-ब्राह्मण लड़कियों को चुना, जिनमें एक दलित भी शामिल है। उन्होंने कहा लेकिन इस बार, हमने एक मुस्लिम लड़की की पूजा करने के बारे में सोचा।

दत्ता ने कहा कि हमने कामरहाटी नगरपालिका के ठेकेदार मुहम्मद इब्राहिम के साथ इस विषय पर बातचीत की तो उन्होंने कहा की हमारी बहन बुशरा बीबी की चार साल की बेटी है, जिसकी कन्या पूजा की जा सकती है लेकिन जब हमें इस बारे में अपनी बहन से पूछा तो वह सहम गई लेकिन बाद में वो इसके लिए तैयार हो गई। और हमने उसकी तैयारी शुरू कर दी।

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने एक मुस्लिम लड़की को क्यों चुना, तो दत्ता ने मीडिया को बताया “शास्त्रों में कहीं नहीं लिखा है कि कन्या पूजा एक गैर-ब्राह्मण की नहीं हो सकती है। इस लिए हमने ये फैसला किया।

दत्ता ने कहा कि उन्होंने कन्या  पूजा के लिए मुस्लिम लड़की को चुनने पर न हमरे परिवार औरविरोध किया बल्कि लोगों ने ख़ुशी जाहिर की है ।

दूसरी ओर, इब्राहिम ने कहा कि उन्होंने महसूस किया कि फातिमा को कन्या  के रूप में चुना गया है। “देश के कुछ क्षेत्रों में हिंदू और मुसलमानों के बीच कुछ तनाव हैं। लेकिन यहाँ पर ये काम एक संदेश देगा कि दो समुदायों के सदस्य शांति से एक साथ रहना चाहते हैं।

Top Stories