लॉकडाउन का उल्लंघन करने के इल्ज़ाम में तेजस्वी यादव के खिलाफ़ प्राथमिकी दर्ज!

लॉकडाउन का उल्लंघन करने के इल्ज़ाम में तेजस्वी यादव के खिलाफ़ प्राथमिकी दर्ज!

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद के बेटे तेजप्रताप और अन्य समर्थकों के खिलाफ रांची के चुटिया थाने में जिला प्रशासन की ओर से प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

 

जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, 14 दिनों की होम क्वारंटाइन अवधि पूरी किए बिना झारखंड से बिहार लौट जाने और बिना अनुमति होटल में ठहरने के आरोप में उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई है।

 

रांची के सीओ प्रकाश कुमार के आवेदन पर दर्ज एफआइआर में कहा गया है कि 27 अगस्त 2020 की रात 9 बजे चुटिया थाना प्रभारी के साथ स्टेशन रोड स्थित होटल कैपिटल रेजिडेंसी के कमरा नंबर 507 पर सत्यापन के लिए टीम पहुंची थी।

 

इस दौरान बिना पूर्व सूचना और बिना अनुमति के ही तेज प्रताप के होटल के कमरा नंबर 507 में ठहरे होने की पुष्टि हुई।

 

उनके वहां ठहरने के लिए किसी भी तरह का प्रशासनिक आदेश या सक्षम अधिकारी की अनुमति प्राप्त नहीं थी।

 

इसके अलावा बिहार राज्य से झारखंड आने पर उन्हें सरकार के निर्देशानुसार 14 दिनों की होम क्वारंटाइन अवधि पूरी करनी थी। इन आदेशों की धज्जियां उड़ाते हुए हुए क्वारंटाइन अवधि पूरा किए बिना ही वह अपने पैतृक आवास बिहार लौट गए।

 

आइपीसी की धारा 188 (सरकारी आदेश की अवहेलना करना), 269 व 270 (संक्रमण फैलाना) तथा 34 (समूह में घटना को अंजाम देना) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

 

इससे पूर्व होटल कैपिटल रेजिडेंसी में तेजप्रताप को ठहराए जाने पर होटल के मालिक और मैनेजर के खिलाफ भी गुरुवार की रात प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।

 

एफआइआर में होटल मालिक और मैनेजर दुष्यंत कुमार सामंतरे को नामजद आरोपित बनाया गया है। प्राथमिकी के अनुसार अनलॉक नियमों का उल्लंघन कर होटल में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद के बेटे तेजप्रताप को रखा गया।

 

 

होटल में कमरा नंबर 507 में तेज प्रताप को ठहराया गया था। इसकी सूचना मिलने के बाद रांची जिला प्रशासन की टीम चुटिया थाने की पुलिस के साथ पहुंची और छापेमारी की। छापेमारी में तेज प्रताप के होटल में ठहरने की बात सत्यापित हुई।

 

राजद प्रमुख लालू प्रसाद के पुत्र तेज प्रताप द्वारा रांची में होटल में रहने और मेडिकल प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने को मुख्य सचिव ने गंभीरता से लिया है।

 

इस मामले में रांची के उपायुक्त से जवाब मांगा गया है। गौरतलब है कि तेज प्रताप बंदिश के बावजूद होटल में ठहरे और बगैर सक्षम प्राधिकार की अनुमति के जिले में काफिले संग प्रवेश किया। यही नहीं, मेडिकल प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर वे वापस पटना लौट गए।

Top Stories