अपनी मांगों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे उर्दू टीईटी अभ्यर्थियों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

अपनी मांगों के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे उर्दू टीईटी अभ्यर्थियों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

पटना। करगिल चौक पर प्रदर्शन कर रहे उर्दू टीईटी के सैकड़ों अभ्यर्थियों पर पुलिस ने बुधवार को लाठीचार्ज किया। अभ्यर्थी अपनी मांगों को लेकर सड़क पर उतरे थे। सायंस कॉलेज से मार्च निकालकर राजभवन जाना चाह रहे थे पर पुलिस ने इन्हें करगिल चौक पर ही रोक दिया। इससे अभ्यर्थी आक्रोशित हो गए। इसी दौरान पुलिस से तीखी बहस और फिर झड़प शुरू हो गई। अभ्यर्थी सड़क पर ही बैठ गए।

इससे वाहनों की लंबी कतार लग गई। काफी देर के बाद भी जब अभ्यर्थी सड़क से नहीं हटे तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। उर्दू टीईटी अभ्यर्थियों के प्रदर्शन के कारण थोड़ी देर के लिए करगिल चौक पर भगदड़ मच गयी। कई अभ्यर्थी घायल हो गए। घायलों में चंपारण के अकरम, बेतिया के राशिद, मुज्जफरपुर से इकबाल और नदीम को चोट लगी। वहीं नालंदा के असीम और लियाकत को चोट लगी। घायलों को पीएमसीएच और निजी अस्पतालों में ले जाया गया।

बिहार बोर्ड की ओर से 2013 में स्पेशल उर्दू टीईटी परीक्षा ली गई थी। इसमें आंदोलित छात्र पास हो गए थे। वहीं गलत प्रश्नों की वजह से काफी छात्र प्रभावित हुए थे। इसके बाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद संशोधित रिजल्ट जारी किया गया है। इसमें 13 प्रश्नों को हटाकर रिजल्ट जारी किया गया था। इसके बाद 12 हजार अभ्यर्थियों के नाम रिजल्ट से हटा दिये गए थे। तभी से रिजल्ट में नाम शामिल करने को लेकर आंदोलन कर रहे हैं।

संघ के अध्यक्ष मुफ़्ती हसन राजा ने कहा सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को लीगल ओपेनियन भेज कर सभी उम्मीदवारों को ग्रेस देकर पास करने की बात कही है। सरकार की ओर से सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है। संघ अध्यक्ष ने चेतावनी दी कि अगर मांगें पूरी नहीं हुई तो आंदोलन जारी रहेगा। इसमें सैकड़ों परीक्षार्थी शामिल रहे।

उर्दू टीईटी अभ्यर्थियों के प्रदर्शन के कारण पूरा अशोक राजपथ जाम हो गया। साथ ही दारोगा अभ्यर्थी भी पहुंच गए। इससे गांधी मैदान की ओर जानेवाली सभी सड़कों पर गाड़ियों की कतार लग गयी। इससे लोगों को काफी परेशानी हुई।

Top Stories