मैं हूँ भीष्म पितामह, मोदी सरकार को नहीं करने दूंगा अर्थव्यवस्था का चीरहरण: यशवंत सिन्हा

मैं हूँ भीष्म पितामह, मोदी सरकार को नहीं करने दूंगा अर्थव्यवस्था का चीरहरण: यशवंत सिन्हा
Click for full image

पूर्व वित्‍तमंत्री व वरिष्‍ठ भाजपा नेता यशवंत सिन्‍हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुधवार को दिए गए बयान पर प्रतिक्रिया दी है। मोदी ने मोदी ने बुधवार को पहली बार अर्थव्यवस्था में सुस्ती की बात स्वीकार की, लेकिन उन्होंने आलोचकों से कहा कि वे नकारात्मकता न फैलाएं और साथ ही उन्होंने अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने का वादा किया।

उन्होंने आलोचकों की तुलना महाभारत के शल्य से की, जो कर्ण का सारथी था। वह हमेशा राजा को हतोत्साहित करता रहता था। मोदी ने कहा कि ऐसे लोगों को पहचानने की जरूरत है। इस पर यशवंत सिन्‍हा ने जवाब दिया है कि ”मैं शल्‍य नहीं, भीष्‍म हूं। भीष्‍म तो नहीं बोले थे मगर मैं बोलूंगा और अर्थव्‍यवस्‍था का चीरहरण नहीं होने दूंगा।”

सिन्‍हा ने कहा, ”महाभारत में हर तरह के चरित्र हैं, शल्‍य भी उनमें से एक है। शल्‍य कौरवों की ओर किस तरह शामिल हुए, कहानी सबको पता है। दुर्योधन ने उनको ठग लिया था। शल्‍य, नकुल और सहदेव के मामा थे। वे तो पांडवों की तरफ से लड़ना चाहते थे मगर ठगी के शिकार हुए। महाभारत में ही एक और चरित्र है भीष्‍म पितामह। भीष्‍म पर आरोप है कि जब द्रौपदी का चीरहरण हो रहा था तो वे खामोश रह गए। अब अगर अर्थव्‍यवस्‍था का चीरहरण होगा तो मैं बोलूंगा।”

यशवंत सिन्हा ने इसके पहले मौजूदा अर्थव्यवस्था को लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने इस संबंध में आंकड़ें पेश करते हुए नोटबंदी, जीएसटी और डिजिटल पेमेंट पर सवाल उठाए थे. पूर्व वित्त मंत्री ने कहा था कि मोदी ने गरीबी देखी है. उनके मंत्री देश को गरीबी दिखाएंगे.

वहीं, यशवंत सिन्हा के बेटे और केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने सरकार का बचाव किया था. जयंत ने कहा था कि मौजूदा समय में सरकार ने कुछ अहम फैसले लिए हैं. आने वाले समय में इसका असर दिखेगा.

Top Stories