लेबनान: ईसाई जज का 3 युवाओं को जेल भेजने के बजाय क़ुरान की आयतें याद करने का आदेश

लेबनान: ईसाई जज का 3 युवाओं को जेल भेजने के बजाय क़ुरान की आयतें याद करने का आदेश

लेबनान में पिछले हफ्ते एक महिला न्यायाधीश ने तीन मुस्लिम युवकों के खिलाफ अनोखी प्रक्रति का फैसला सुनाया जिन पर हजरत मरयम अलैहिस्सलाम की अपमान का आरोप था।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

महिला जज ने नौजवानों को जेल भेजने के बजाय कुरान करीम की उन आयतों को हिफ्ज़ करने का आदेश दिया जिन में हज़रत मरयम और उनके बेटे ईसा अलैहिस्सलाम की महिमा बयान किया गया है।

तराबलस शहर में महिला जज जोस्लीन मती की ओर से इस फैसले को लेबनान में सकारात्मक नजर से देखा जा रहा है। प्रधान मंत्री सअद हरीरी ने ट्विटर पर और पूर्व प्रधान मंत्री नजीब मिकाती ने फेसबुक पर इस फैसले को भरपूर अंदाज़ में सराहा है। गौरतलब है कि कुरान करीम में सूरत आलि इमरान की आयत 33 से आयत 59 तक ख़ास तौर पर हजरत मरयम और ईसा अलैहिस्सलाम का ज़िक्र किया है।

Top Stories