Wednesday , December 13 2017

LOC पर जंग बंदी जारी रखने की ज़रूरत: उमर अबदुल्लाह

पुने, 12 जनवरी ( पी टी आई) हिंद पाक सरहद पर बढ़ती हुई कशीदगी के दरमियान जम्मू-ओ-कश्मीर के चीफ़ मिनिस्टर उमर अबदुल्लाह ने आज कहा कि दोनों मुल्कों के माबैन जंग बंदी को बरक़रार रखा जाना चाहीए । क्योंकि उसकी ख़िलाफ़वर्ज़ी की सूरत में अस्करीयत

पुने, 12 जनवरी ( पी टी आई) हिंद पाक सरहद पर बढ़ती हुई कशीदगी के दरमियान जम्मू-ओ-कश्मीर के चीफ़ मिनिस्टर उमर अबदुल्लाह ने आज कहा कि दोनों मुल्कों के माबैन जंग बंदी को बरक़रार रखा जाना चाहीए । क्योंकि उसकी ख़िलाफ़वर्ज़ी की सूरत में अस्करीयत पसंदी से बुरी तरह मुतास्सिर रियासत पर संगीन असरात मुरत्तिब हो सकते हैं ।

उमर अबदुल्लाह से लाईन आफ़ कंट्रोल पाकिस्तान से मतसला लाईन आफ़ कंट्रोल पर पेश आए हालिया वाक़िया पर रद्द-ए-अमल की ख़ाहिश की गई थी इस वाक़िया में पाकिस्तानी सिपाहीयों ने दो हिंदूस्तानी सिपाहीयों को हलाक कर दिया था । मिस्टर उमर अबदुल्लाह ने मज़ीद कहा कि हम पहले ही इस वाक़िया की सख़्त मुज़म्मत कर चुके हैं हम चाहते हैं कि दोनों मुल्कों के दरमियान जंग बंदी बदस्तूर जारी रहे क्योंकि उसकी ख़िलाफ़वर्ज़ी से जम्मू-ओ-कश्मीर की आबादी पर बदतरीन असरात मुरत्तिब होते हैं ।

उन्होंने कहा कि 2003 से नाफ़िज़-उल-अमल जंग बंदी इस रियासत में मुदाख़िलत कारी को रोकने के लिए निहायत ज़रूरी है । मिस्टर उमर अबदुल्लाह यहां महाराष्ट्रा इंस्टीटियूट आफ़ टेक्नालोजी ( एम आई टी ) के ज़ेर-ए-एहतिमाम मुनाक़िदा स्टूडेंट पार्लीमेंट के मौक़ा पर अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत कर रहे थे ।

इस दौरान पाकिस्तानी फ़ौज की जानिब से जंग बंदी की मुसलसल ख़िलाफ़वर्ज़ीयों के सबब सरहदी रियासत जम्मू-ओ-कश्मीर में कशीदगी की सतह में इज़ाफ़ा हो गया है और सरहद के उस पार तिजारती रास्तों को बंद कर दिया गया है ।

TOPPOPULARRECENT