झारखंड चुनाव- भाजपा को एक और झटका, रामविलास ने भी बनाई दूरी

झारखंड चुनाव- भाजपा को एक और झटका, रामविलास ने भी बनाई दूरी
Ram Vilas Paswan the current Minister of Consumer Affairs, Food and Public Distribution and the president of the Lok Janshakti Party, during Idea Exchange at Indian Express Office on Friday. Express Photo by Abhinav Saha. 20.03.2018.

रांची : भाजपा को एक और सहयोगी दल ने झटका दिया है। महाराष्ट्र में शिवसेना के बाद अब झारखंड में सहयोगी दल लोजपा ने भाजपा के खिलाफ झंडा बुलंद कर दिया है। रामविलास पासवान की पार्टी लोजपा ने झारखंड में अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है।

केंद्र सरकार में भारतीय जनता पार्टी की अगुआई वाले सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल लोकतांत्रिक जनतांत्रिक गठबंधन (लोजपा) ने झारखंड में विधानसभा चुनाव के लिए 50 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार दिए हैं, जिसे भाजपा के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

 

बता दें की झारखंड की 81 विधानसभा सीटों पर 30 नवंबर से पांच चरणों में चुनाव होंगे। यहां भाजपा को अपने सबसे पुराने सहयोगियों में से एक जनता दल-यूनाइटेड (जद-यू) से भी मुकाबला करना होगा। जद-यू ने राज्य की सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का फैसला किया है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछले सप्ताह नई दिल्ली में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अपना रुख स्पष्ट कर दिया था। इस बैठक में उन्हें लगातार दूसरी बार जद-यू प्रमुख चुना गया था। जद-यू के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी झारखंड में सभी सीटों पर अपने दम पर लड़ेगी और भाजपा से गठबंधन नहीं करेगी।

साल 2014 के लोकसभा चुनावों में हार के बाद जद-यू ने लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस के साथ मिलकर राज्य में 2015 के विधानसभा चुनाव के लिए महागठबंधन किया था।

Top Stories