Sunday , January 21 2018

जब राष्ट्रवाद लड़खड़ाने लगता है तो वह आक्रामक हो जाता है: एम.जे. अकबर

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री एम.जे. अकबर ने कहा है कि राष्ट्रवाद ही आतंकवाद का एकमात्र जवाब है। हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि आक्रामक राष्ट्रवाद प्रतिकूल साबित हो सकता है।

विदेश राज्य मंत्री अकबर ने कहा कि जो राष्ट्रवाद छोड़ते हैं वे आतंकवाद की बुराई से नहीं लड़ पाएंगे। अकबर ने ये बातें विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन में ‘राष्ट्र और राष्ट्रवाद’ विषय पर एक व्याख्यान में कहा। उन्होंने कहा कि जब राष्ट्रवाद लड़खड़ाने लगता है तो वह आक्रामक हो जाता है।

उन्होंने आगे कहा कि समस्या राष्ट्रवाद में नहीं, बल्कि आक्रामकता में है। राज्य विदेशमंत्री की ये टिप्पणी देश में राष्ट्रवाद पर चल रही बहस के बीच महत्वपूर्ण है।

TOPPOPULARRECENT