Monday , July 16 2018

महाराजा हरी सिंह कश्मीर को एक आज़ाद देश बनाना चाहते थे: फारूक अब्दुल्ला

पूंछ: नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष व सांसद डॉक्टर फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू व कश्मीर के आखिरी राजा महाराजा हरी सिंह राज्य को एक आजाद देश बनाना चाहते थे, लेकिन पाकिस्तान ने हमलावर भेजकर महाराजा के योजना पर पानी फेर दिया। उन्होंने कहा कि महाराजा हरी सिंह को मजबूरी में भारत से सहबद्ध करना पड़ा था।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने कहा कि 1947 में जम्मू व कश्मीर में मुसलमानों की आबादी का अनुपात 90 फीसद था और उसको पाकिस्तान से मिलने से कोई रोक नहीं सकता था। नेशनल कांफ्रेंस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि देश की आवधिक सरकारों ने जम्मू व कश्मीर के साथ धोका किया और धारा 370 के तहत राज्य को प्राप्त विशेष पोज़ीशन को खोखला कर दिया।

उन्होंने कहा कि अगर देश की आवधिक सरकारों ने जम्मू व कश्मीर के साथ इंसाफ किया होता तो आज राज्य की यह स्थिति नहीं होती। उन्होंने कहा कि जम्मू व कश्मीर एकमात्र एसा राज्य है जो भारत में सम्मिलित नहीं हुई है। कश्मीर के नौजवान भारत से आज़ादी चाहते हैं और आज़ादी को हासिल करने के लिए बंदूकें उठा रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT