अबकी बार चारो तरफ हाहाकार! महाराष्ट्र में कीटनाशक के इस्तेमाल से 18 मजदूरों-किसानों की मौत

अबकी बार चारो तरफ हाहाकार! महाराष्ट्र में कीटनाशक के इस्तेमाल से 18 मजदूरों-किसानों की मौत
Click for full image

मुंबई: खेती के दौरान कीटनाशक का इस्तेमाल करने से बीते दो महीने के अंदर महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में 18 खेतिहर मजदूर और किसानो की मौत हो चुकी है।

कीटनाशक के इस्तेमाल करने से बीमार हुए 700 किसानों का इलाज अभी अस्पताल में चल रहा है। इनमें से 25 की आंखों पर बुरा असर पड़ा है।

इस मामले में जांच करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने उच्च स्तरीय गठित की है। ये जांच गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव द्वारा किआ जायेगी।

इन मामलों को बढ़ने से रोकने के लिए सरकार ने छिड़काव के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाले मास्क और दस्ताने देने और मृतक किसानों के परिजनों को 2- 2 लाख रुपये फौरी तौर पर मदद देने की भी घोषणा की है।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में यवतमाल जिले में इस बार 9 लाख हेक्टेयर में कपास लगाया गया है।

लोगों का कहना है कि इस बार किसानों ने चीनी स्प्रे पंप का खूब इस्तेमाल किया जिससे ज्यादा मात्रा में कीटनाशक का छिड़काव होता है।

 

लेकिन स्प्रे करने के वक्त किसानों और मजदूरों ने मास्क या दस्ताने नहीं पहने जिस कारण कीटनाशक का जहर नाक और मुंह के जरिये उनके शरीर में चला गया।
वहीं इस बात का है कि न तो बीज कंपनियो ने किसानों को ठीक से सूचनाएं दी और न कृषि विभाग ने अपनी जिम्मेदारी ठीक से निभाई।

Top Stories