VIDEO: करीब छह साल बाद अपने देश पहुंची पाकिस्तान, पीएम सहित अहम लोगों से करेंगी मुलाकात

VIDEO: करीब छह साल बाद अपने देश पहुंची पाकिस्तान, पीएम सहित अहम लोगों से करेंगी मुलाकात
Click for full image

सबसे कम उम्र की नोबल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफ़ज़ई छह वर्ष के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच आज अपनी सरजमीं पाकिस्तान वापस लौटीं। पाकिस्तान के जियो टीवी ने मलाला की इस्लामाबाद हवाई अड्डे से कड़ी सुरक्षा के बीच बाहर निकलने की तस्वीरें दिखाई है।

मलाला को 17 वर्ष की आयु में साल 2014 में शिक्षा का समर्थन करने के लिए नोबल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। वर्ष 2012 में मलाला पर हुए तालिबान आतंकवादियों के हमले के बाद वह पहली बार पाकिस्तान लौटीं हैं।

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी मलाला से मिलेंगें। जियो न्यूज के मुताबिक मलाला पारंपरिक पाकिस्तानी सलवार, कमीज और दुपट्टा पहने विमान से बाहर निकलीं। उनके साथ उनकी मां और उनके पिता भी एयरपोर्ट पर देखे गए।

जानकारी के मुताबिक, मलाला अपने परिवार और मलाला फंड के सीईओ के साथ ‘मीट द मलाला’ कार्यक्रम में शामिल होंगी। वो चार दिनों तक पाकिस्तान में रहेंगी. गौर हो कि दुनिया भर में लड़कियों की शिक्षा के लिए मलाला ने मलाला फंड की स्थापना की है।

2012 को तालिबानी आतंकी उस बस पर सवार हो गए जिसमें मलाला अपने साथियों के साथ स्कूल जाती थीं। उनमें से एक ने बस में पूछा, ‘मलाला कौन है?’ सभी खामोश रहे लेकिन उनकी निगाह मलाला की ओर घूम गईं। इससे आतंकियों को पता चल गया कि मलाला कौन है। उन्होंने मलाला पर एक गोली चलाई जो उसके सिर में जा लगी।

मलाला पर यह हमला 9 अक्टूबर 2012 को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के स्वात घाटी में किया था। गंभीर रूप से घायल मलाला को इलाज के लिए ब्रिटेन ले जाया गया। यहां उन्हें क्वीन एलिजाबेथ अस्पताल में भर्ती कराया गया। देश-विदेश में मलाला के स्वस्थ्य होने की प्रार्थना की गई और आखिरकार मलाला वहां से स्वस्थ होकर लौटीं।

जब वह स्वस्थ हुई तो अंतरराष्‍ट्रीय बाल शांति पुरस्कार, पाकिस्तान का राष्ट्रीय युवा शांति पुरस्कार (2011) के अलावा कई बड़े सम्मान मलाला के नाम दर्ज होने लगे। 2012 में सबसे अधिक प्रचलित शख्सियतों में पाकिस्तान की इस बहादुर बाला मलाला युसूफजई के नाम रहा।

लड़कियों की शिक्षा के अधिकार की लड़ाई लड़ने वाली साहसी मलाला यूसुफजई की बहादुरी के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा मलाला के 16वें जन्मदिन पर 12 जुलाई को मलाला दिवस घोषित किया गया।

मलाला को साल 2013 में भी नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था। 2013 में ही मलाला को यूरोपीय यूनियन का प्रतिष्ठित शैखरोव मानवाधिकार पुरस्कार भी मिला।

Top Stories