Tuesday , December 12 2017

मलाला यूसुफ़जई बनीं संयुक्त राष्ट्र की सबसे कम उम्र की ‘शांति दूत’

पाकिस्तान की नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई संयुक्त राष्ट्र में सबसे कम उम्र की शांति दूत नियुक्त हो गई हैं।

इससे पहले भी मलाला 2014 में बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी के साथ नोबेल शांति पुरस्कार जीतने वालीं सबसे कम उम्र की विजेता बनी थीं।

इस मौके पर पर मलाला ने कहा, ‘चरमपंथियों ने मुझे रोकने के लिए अपनी पूरी कोशिश की, उन्होंने मुझे मारने की कोशिश की पर वे सफल नहीं हुए। अब यह एक नया जीवन है, यह दूसरा जीवन है और यह शिक्षा के उद्देश्य के लिए है।’

उन्होंने कहा कि अगर आप अपने भविष्य को उज्ज्वल देखना चाहते हैं, तो आपको अब किसी और का इंतजार किए बगैर काम शुरू कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि मेरी दूसरी जिंदगी शिक्षा को समर्पित है और मैं इस दिशा में काम करना जारी रखूंगी।

बता दें कि मलाला को लड़कियों की शिक्षा के लिए अभियान चलाने की वजह से 2012 में आतंकवादी हमले का शिकार होना पड़ा था।

 

TOPPOPULARRECENT