बेरहमी से की गई अफराजुल की हत्या का मुद्दा टीवी डिबेट और मेनस्ट्रीम मीडिया से क्यों गायब है?

बेरहमी से की गई अफराजुल की हत्या का मुद्दा टीवी डिबेट और मेनस्ट्रीम मीडिया से क्यों गायब है?
Click for full image

हैदराबाद। राजस्थान में नफरत की वज़ह से निर्दयी तरीके से अजराफुल खान हत्या कर दी गई। इस दर्दनाक घटना को शंभूलाल नामक शैतान और हैवान ने अंजाम दिया। इस विडियो ने इंसानियत को झकझोर कर रख दिया। पुरी दुनिया में इसकी निंदा की जा रही है।

हैरानी की बात यह है कि आज भारतीय मीडिया इइसपर खामोश बैठी हुई है। बल्कि इस मुद्दे को तरह तरह के रंग देने की कोशिश की जा रही। लव जिहाद और लव ट्राएंगल से जोड़ने की कोशिश की जा रही है।

कांग्रेस के नेता रहे मणिशंकर अय्यर ने जब नीच शब्द का इस्तेमाल किया तो भारत की पुरी मीडिया लगातार इस मुद्दे को उछालती रही। मगर अफराजुल की निर्दयी हत्या पर खामोश बनकर बैठी रही।

अब इस मामले को कुछ मीडिया और हिन्दूवादी लोग लव ट्राएंगल से जोड़ने की साजिश रच रहे हैं। लगातार इस मामले में लव ट्राएंगल को लाकर इस मामले में नया मोड़ देने की कोशिश की जा रही है।

विडियो हत्यारे को कहते हुए साफ देखा जा सकता है कि वह विशेष धर्म की वजह से उस मौत के घाट उतार दिया। तरह तरह की साजिशें रची जा रही है।

हत्यारे शंभू लाल के दोस्तों और करीबीयों से कहलवाने की कोशिश की जा रही है कि अजराफुल खान की एक नाबालिग हिन्दू लड़की के साथ प्रेम प्रसंग था।

हैरहैरानी की बात है किइसमुद्दे पर कोई मेनस्ट्रीम मीडिया सच्चाई को दिखाने से बच रही है। वहीं इस मुद्दे पर टीवी पर बैठकर मुसलमानों की हक़ की बात करने वाले लोग गायब है।

वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि शंभूलाल मार्बल व्यापार का काम करता था लेकिन नोटबंदी के बाद से ही उसका रोजगार ठप्प था। बेरोजगार होने के बाद से उसने काफी लोगों से करीब 1.5 लाख रुपए उधार ले लिए थे।

शंभूनाथ के पड़ोसियों का कहना है कि बेरोजगार होने के बाद से वह बहुत अधिक शराब पीने लगा था और अक्सर गांजा का सेवन किया करता था। उसके एक दोस्त ने बताया, ‘उसके व्यवहार में काफी बदलाव आया था और वह घंटों इंटरनेट पर बिताता था।

Top Stories