मैनचेस्टर हमलावर के जनाज़े की नमाज़ पढ़ाने से सभी मस्ज़िद और इस्लामिक केन्द्रों ने किया इंकार

मैनचेस्टर हमलावर के जनाज़े की नमाज़ पढ़ाने से सभी मस्ज़िद और इस्लामिक केन्द्रों ने किया इंकार
Click for full image

ब्रिटिश शहर मैनचेस्टर के मस्जिदों और इस्लामी केन्द्रों ने पिछले हफ्ते हुए आत्मघाती हमला करने वाले सलमान अलअबीदी की नमाज़े जनाज़ा पढ़ाने और उसे मैनचेस्टर में दफन करने से माफी है।

दूसरी ओर मैनचेस्टर नगर पालिका ने भी आत्मघाती हमलावर को इस शहर में दफन करने से रोकने के लिए सभी विकल्प का उपयोग करने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि लीबियाई मूल के सलमान अलअबीदी नामक एक चरमपंथी ने पिछले सप्ताह मैनचेस्टर में एक संगीत समारोह में घुसकर आत्मघाती हमला किया था, जिसमें बच्चों और महिलाओं सहित 22 लोग मारे गए और 60 घायल हो गए थे।

इस घटना के बाद मैनचेस्टर के मुसलमानों में गुस्से की लहर दौड़ गई थी। जुलाई 2005 के बाद यह ब्रिटेन में सबसे बड़ी खूनी वारदात करार दिया गया है।

अलअरबिया डॉट नेट के अनुसार उत्तरी इंग्लैंड के शहर मैनचेस्टर के मस्जिदों और इस्लामी केन्द्रों ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि वह अलअबीदी की नमाज़े जनाज़ा और उसके कफ़न दफ़न की व्यवस्था नहीं कर सकते।

अखबार ‘मैनचेस्टर इवनिंग न्यूज’ ने मैनचेस्टर नगर पालिका के एक सूत्र के हवाले से बताया है कि नगर पालिका आत्मघाती हमलावर की मैनचेस्टर में दफ़न न करने देने के लिए सभी विकल्प का उपयोग करेगी।

सूत्रों का कहना है कि नगर पालिका सलमान अलअबीदी की नमाज़े जनाज़ा और शहर में दफ़न करने की किसी भी सुरत में इजाजत नहीं देगी।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक आत्मघाती हमलावर के अवशेष शहर से बाहर सुरक्षित रखे गए हैं लेकिन एक दूसरे सूत्रों का कहना है कि अलअबीदी के अवशेष एक पल के लिए भी सुरक्षित नहीं किया गया।

 

 

Top Stories